MP Cabinet Meeting: भोपाल (राज्य ब्यूरो)। मध्य प्रदेश में स्वास्थ्य सुविधाओं को बेहतर बनाने के लिए अब सीहोर जिले के बुदनी और उज्जैन में मेडिकल कालेज खोले जाएंगे। दोनों कालेजों में एमबीबीएस की 100-100 सीटें रहेंगी। बुधनी में मेडिकल कालेज के साथ-साथ पांच सौ बिस्तर का अस्पताल, नर्सिंग और पैरामेडिकल कालेज भी खुलेगा। इसके लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में मंगलवार का मंत्रालय में हुई कैबिनेट बैठक में सैद्धांतिक स्वीकृति दी गई। दोनों कालेजों की स्थापना पर लगभग 884 करोड़ रुपये शासन की ओर से व्यय किया जाएगा। बुधनी मुख्यमंत्री का विधानसभा क्षेत्र है।

प्रदेश में अभी शासन के अधीन भोपाल, इंदौर, ग्वालियर, जबलपुर, रीवा, सागर, विदिशा, रतलाम, खंडवा, शहडोल, शिवपुरी, दतिया और छिंदवाड़ा में मेडिकल कालेज हैं। नीमच, मंदसौर, मंडला, राजगढ़, सिंगरौली और श्योपुर जिले में मेडिकल कालेज की स्थापना के लिए 350 करोड़ रुपये स्वीकृत किए गए हैं। इन कालेजों का निर्माण होने के बाद एमबीबीएस पाठ्यक्रम के लिए 1050 सीटें अतिरिक्त प्राप्त होंगी। छतरपुर और सिवनी में सरकार अपने बजट से 150 एमबीबीएस प्रवेश क्षमता के कालेज की स्थापना कर रही है। इसी कड़ी में बुधनी और उज्जैन में मेडिकल कालेज खोले जा रहे हैं।

बुधनी में कालेज खुलने से होशंगाबाद, इटारसी, पिपरिया, बैतूल सहित आसपास के क्षेत्र के व्यक्तियों को चिकित्सा सुविधा मिलेगी। वहीं, उज्जैन में मेडिकल कालेज खुलने से उज्जैन, देवास, आगर मालवा और शाजापुर जिले के लोगों को लाभ होगा।

अब 200 करोड़ रुपये प्रतिवर्ष होगा मुख्यमंत्री का स्वेच्छानुदान

मुख्यमंत्री का स्वेच्छानुदान 2022-23 एवं आगामी वर्षों के लिए प्रतिवर्ष 200 करोड़ रुपये होगा। कैबिनेट ने स्वेच्छानुदान की राशि में वृद्धि के प्रस्ताव को अनुमति दे दी। इसी तरह विधायकों का स्वेच्छानुदान भी 15 लाख रुपये से बढ़ाकर 50 लाख रुपये प्रतिवर्ष किया गया है। विधायक क्षेत्र विकास निधि योजना की राशि भी अब एक करोड़ 85 लाख रुपये की जगह दो करोड़ 50 लाख रुपये प्रतिवर्ष हागी।

बलिदानी पुलिसकर्मियों के उत्तराधिकारियों को मिलेगी एक करोड़ रुपये की सहायता

गुना के आरोन में शिकारियों के साथ मुठभेड़ में बलिदान हुए उप निरीक्षक राजकुमार जाटव, कार्यवाहक प्रधान आरक्षक नीरज भार्गव और आरक्षक संतराम मीना के उत्तराधिकारियों को एक करोड़ रुपये की सहायता देने का निर्णय लिया गया है। मुख्यमंत्री ने इसकी घोषणा की थी।

23 विकास खंडों में खुलेंगे औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान

प्रदेश के 23 विकासखंडों में औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान (आइटीआइ) की स्थापना की जाएगी। इसके लिए 437 प्रशिक्षकीय और 253 प्रशासकीय पद स्वीकृत करने की अनुमति कैबिनेट ने दे दी। प्रदेश के 213 विकासखंडों में 238 शासकीय आइटीआइ संचालित हैं। इनकी प्रवेश क्षमता 44 हजार 552 हैं।

राज्य सरकार के प्रवक्ता गृह मंत्री डा. नरोत्तम मिश्रा ने बताया कि उज्जैन में काफी समय से मेडिकल कालेज खोलने की मांग की जा रही थी।

Koo App

आज मंत्रालय में मुख्यमंत्री श्री @ChouhanShivraj की अध्यक्षता में कैबिनेट की बैठक राष्ट्रगीत ’वंदेमातरम्’ के गायन के साथ प्रारम्भ हुई।

View attached media content

- CM Madhya Pradesh (@CMMadhyaPradesh) 28 June 2022

Koo App

कैबिनेट के महत्वपूर्ण निर्णय #CabinetDecisions #MadhyaPradesh

View attached media content

- Shivraj Singh Chouhan (@chouhanshivraj) 28 June 2022

Koo App

कैबिनेट के जनहितकारी निर्णय #CabinetDecisions #MadhyaPradesh

View attached media content

- Shivraj Singh Chouhan (@chouhanshivraj) 28 June 2022

Koo App

मुख्यमंत्री श्री @ChouhanShivraj की अध्यक्षता में कैबिनेट की बैठक में कई अहम प्रस्तावों को मंजूरी दी गई। कैबिनेट बैठक में नवीन चिकित्सा महाविद्यालय बुदनी को सैद्धांतिक मंजूरी दी गई, साथ ही नवीन चिकित्सा महाविद्यालय उज्जैन के अंदर प्रशासकीय स्वीकृति दी है। #JansamparkMP

View attached media content

- Jansampark MP (@JansamparkMP) 28 June 2022

Posted By: Prashant Pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close