भोपाल(राज्य ब्यूरो)। गुना में पुलिसकर्मियों के बलिदाल की घटना के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान एक्शन मूड में हैं। उन्होंने रविवार सुबह सात बजे ही अपने आवास पर प्रदेश के आला अध‍िकारियों की बैठक बुलाई। जिसमें कलेक्टर-आयुक्त, पुलिस अधीक्षक-पुलिस महानिरीक्षक जुड़े।

मुख्यमंत्री ने साफ कहा कि जिसमें दम हो वही फील्ड में रहे। उन्होंने कहा कि अपराध‍ियों को नहीं छोड़ने का संकल्प है मेरा। कलेक्टर और आयुक्त को इसमें पुलिस का साथ देना है। शिकार कोई एक दिन नहीं होता, शिकारी-गोकशी करने वालों, जुआ-सट्टा चलाने वालों, ड्रग्स का धंधा करने वालों और अवैध शराब बेचने वालों को बर्बाद कर दें।

सीएम ने डीजीपी से कहा एक बार फील्ड के अध‍िकारियों से बात कर लें, जो फील्ड में कुछ करके दिखा सके, वही रहेगा। उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार के मामले में जीरो टालरेंस चाहिए। एक्शन में देर नहीं होनी चाहिए। ऐसी परिस्थिति पैदा करें कि अपराध हो ही नहीं। बैठक में मुख्यमंत्री के तेवर तीखे नजर आए। वह बोले कि सुबह सात बजे बैठक बुलाने का मकसद यह है कि आप 10 बजे से काम में लग जाएं। यह बैठक जनता की जिंदगी में नई सुबह की तरह हो। उन्होंने कहा कानून व्यवस्था मेरी सर्वोच्च प्राथमिकता है।

उन्‍होंने कहा कि गुना की घटना से मैं बहुत बेचैन हूं। पुलिस का काम जनता के लिए शांति स्थापित करना है। उन्होंने कहा कि अपरा;घळर्-ऊि्‌झ। नियंत्रण की जल्द ही फिर से समीक्षा की जाएगी। वहीं अध‍िकारियों को स्वस्थ रहने के लिए योग, ध्यान, वाक करने की सलाह भी दी। उन्होंने कहा कि आपका अध‍िकारी और मेरा मुख्यमंत्री होना तभी सार्थक है जब जनता के कल्याण के काम हों।

कोई गड़बड़ हुई तो सीधे जिम्मेदार होंगे

मुख्यमंत्री ने कहा कि सीईओ जिला पंचायत अमृत सरोवर, आजीविका मिशन, मनरेगा, ग्रामीण आवास सहित जल संरचनाओं और ग्रामीण क्षेत्रों में चल रहे विभिन्न निर्माण कार्यों का विशेष रूप से ध्यान रखें, किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

मुख्यमंत्री ने यह भी कहा

बिजली चोरों पर कड़ी कार्रवाई करें। बिजली पर्याप्त है, आपूर्ति में बाधा न आए। भोपाल से चौपाल तक पेयजल व्यवस्था दुरुस्त हो। कलेक्टर समन्वय की भूमिका निभाएं। नलजल योजनाओं के संचालन में तकनीकी दिक्कत न हो, जहां जरूरत हो पाइप बढ़ाएं, हैंडपंप सुधारें। विकासखंड स्तर पर मैकेनिकों की टीम गठित करें। शिकायतें दर्ज करने के लिए कार्यालयों में रजिस्टर रखें। ग्रामीण विकास, जल संसाधन, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी और ऊर्जा विभाग के अमले में समन्वय बनाएं। जलस्रोत कारगर न हों, तो टैंकर से पानी का इंतजाम कराएं। मैं जनता से सीधे संपर्क में हूं, ध्यान रखें। सीएम हेल्पलाइन का बेहतर प्रयोग करें। तकनीक के जमाने में अलर्ट रहें। विभिन्न माध्यम से जनता को शासन की योजनाओं एवं कार्यक्रमों की जानकारी दें। माफिया से मुक्त कराई भूमि के उपयोग की कार्ययोजना पूरी करें।

Koo App

यह सीईओ जिला पंचायत की ड्यूटी है कि नीचे किसी भी क़ीमत पर गड़बड़ी नहीं होनी चाहिए, अगर हुई तो वह सीधे उसके जिम्मेदार होंगे। आपके पास स्त्रोत होना, चाहिए सूचनाएं आनी चाहिए। सीएम हेल्पलाइन का बेहतर प्रयोग करें। जितनी जनता को लाभ पहुंचाने वाली योजनाएं हैं वह समय पर सुनिश्चित करें।

- Shivraj Singh Chouhan (@chouhanshivraj) 15 May 2022

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close