भोपाल (राज्य ब्यूरो)। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि हर तरफ ग्रीन एनर्जी का जोर है। प्रदेश में 300 दिन सूरज चमकता है। इसलिए हम तेजी से सोलर एनर्जी की तरफ बढ़ रहे हैं। प्रदेश के किसान परंपरागत बिजली की जगह सोलर के माध्यम से बिजली का उपयोग कर सकें, इसकी व्यवस्था की जा रही है।

शिवराज केंद्रीय ऊर्जा मंत्री आरके सिंह से मुलाकात के बाद दिल्ली में मीडिया से चर्चा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि केंद्रीय मंत्री से कई विषयों पर चर्चा हुई है। प्रधानमंत्री और ऊर्जा मंत्रालय ने बिजली के क्षेत्र में आमूलचूल परिवर्तन करने का फैसला किया है। आधुनिकीकरण के लिए योजना बनाई है। इसमें 60 फीसद केंद्र सरकार अनुदान देगी और 40 फीसद की व्यवस्था राज्य सरकार करेगी। हम इस योजना से सहमत हैं। हम बिजली व्यवस्था का आधुनिकीकरण करेंगे।

उन्होंने बताया कि रीवा में 750 मेगावाट का सोलर पावर प्लांट लग चुका है और हम दिल्ली मेट्रो तक को बिजली दे रहे हैं। अब हम नीमच और आगर में दो स्र्पये 14 पैसे प्रति यूनिट बिजली बनाएंगे। जल्द ही इस पर काम शुरू होगा। ओंकारेश्वर में फ्लोटिंग (पानी की सतह पर सोलर पैनल लगाना) तरीके से बिजली उत्पादन किया जाएगा। छतरपुर, मुरैना में भी सोलर विद्युत की व्यवस्था की जा रही है। पहले बिजली को स्टोर नहीं कर सकते थे। अब इसकी भी व्यवस्था है, हम इस दिशा में तेजी से आगे बढ़ रहे हैं।

जेपी नड्डा से राजनीतिक परिस्थितियों पर किया विमर्श

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा से दिल्ली में मुलाकात की। पार्टी अध्यक्ष से मुलाकात के दौरान शिवराज ने प्रदेश की राजनीतिक परिस्थितियों की जानकारी दी। साथ ही संगठनात्मक गतिविधियों का ब्योरा भी दिया।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local