भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। प्रदेश में कोरोना संक्रमण का खतरा एक बार फिर बढ़ने लगा है। स्‍वास्‍थ्‍य विभाग द्वारा शुक्रवार को जारी हेल्‍थ बुलेटिन के मुताबिक प्रदेश में कोरोना के 127 नए मरीज मिले हैं। ये 7518 सैंपलों की जांच में इतने मरीजों की पहचान हुई है। इस संक्रमण दर 1.68 फीसदी रही। इसके साथ ही प्रदेश सक्रिय संक्रमितों का आंकड़ा बढ़कर 592 तक पहुंच गया है। बीते चौबीस घंटों के दौरान 85 ठीक भी हुए हैं। लेकिन 127 में से 86 संक्रमित ऐसे हैं जो टीके की दोनों डोज लगाने के बावजूद संक्रमित हुए हैं।

भोपाल में सबसे अधिक 40 संक्रमित मिले

गुरुवार को कोरोना के सबसे अधिक 40 संक्रमित भोपाल में व 34 इंदौर में मिले हैं जबकि जबलपुर में 10 संक्रमितों की पहचान हुई है। 16 अन्‍य जिलों में भी संक्रमितों की पहचान हुई है। जबकि अनूपपुर, सतना व उज्जैन को छोड़कर सभी जिलों से सैंपल लिए गए थे।

इंदौर में सबसे अधिक सक्रिय संक्रमित

इंदौर में सबसे अधिक 224 सक्रिय संक्रमित हो गए हैं। शुरू से यहीं पर संक्रमितों की संख्या अधिक बढ़ रही है। इसके बाद राजधानी भोपाल में संक्रमित मिल रहे हैं जिसकी वजह से अब यहां 152 सक्रिय संक्रमित है। राहत की बात यह है कि इन सभी सक्रिय संक्रमितों में से करीब आठ मरीज अस्पतालों में भर्ती है और बाकी होम आइसोलेशन में है।

तब भी जांच में ढिलाई

प्रदेश में कोरोना संक्रमण का खतरा कम नहीं हुआ है, तब भी जांच में ढ़िलाई बरती जा रही है। सार्वजनिक स्थानों पर जांच केवल दिखावा बनकर रह गई है। खासकर रेलवे स्टेशनों पर 50 से लेकर 500 सैंपल ही लिए जा रहे हैं। जबकि इन स्टेशनों से रोज पांच से दस हजार यात्री गुजर रहे हैं। बस स्टैंड पर भी यात्रियों का दबाव लगातार बढ़ा है। जानकारों का कहना है कि जांच का दायरा बढ़ाया जाता है तो संक्रमितों की संख्या भी बढ़ सकती है।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close