MP Education News: भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। प्रदेश के सरकारी स्कूल खुल गए हैं। पहली से पांचवीं तक के स्कूल भी 15 सितंबर से खुल गए हैं, लेकिन स्कूलों में 30 से 40 फीसद बच्चे पहुंच रहे हैं। स्कूल शिक्षा विभाग ने अधिकारियों की बैठक बुलाकर स्कूलों में चल रही प.ढाई का जायजा लिया। स्कूलों की पढ़ाई के आंकड़ों को बढ़ाने में भोपाल जिला शिक्षा केंद्र का फर्जीवाड़ा सामने आया है। यह फर्जीवाड़ा राज्य शिक्षा केंद्र ने पकड़ लिया। अब भोपाल जिले में जिला परियोजना समन्वयक (डीपीसी) से लेकर जनशिक्षक तक को संचालक राज्य शिक्षा केंद्र ने तलब किया है। इन सभी को 24 सितंबर शुक्रवार की दोपहर 12 बजे बुलाया गया है।

दरअसल कोरोना काल में स्कूल नहीं खुलने पर राज्य शिक्षा केंद्र ने पहली से आठवीं तक कक्षावार बच्चों के वाट्सएप ग्रुप बनाने के निर्देश दिए थे। हर कक्षा के विद्यार्थियों का एक ग्रुप बनना था। बैरसिया ब्लाक के बीआरसीसी ने फर्जीवाड़ा कर दिया। गुर्जर ने पहली से आठवीं तक की कुल 3338 कक्षाएं बताई और वाट्सएप ग्रुप की संख्या 5170 बताकर राज्य शिक्षा केंद्र को जानकारी भेज दी। संचालक राज्य शिक्षा केंद्र ने बीते सोमवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग आयोजित की। इसमें यह फर्जीवाड़ा पकड़ में आ गया। जब भोपाल डीपीसी को बैरसिया ब्लाक संबंधित फर्जी जानकारी पर फटकार लगी, तो संशोधित जानकारी भेजी गई। इसमें पहली से आठवीं तक की 2253 कक्षाएं बताकर 1365 वाट्सएप ग्रुप बताए। इसमें भी 858 ग्रुप कम बताए गए है। फर्जीवाड़े की जानकारी सामने आने के बाद राज्य शिक्षा केंद्र के संचालक ने भोपाल जिले के डीपीसी से लेकर जनशिक्षक तक को शनिवार को मुख्यालय में सभी जानकारी के साथ बुलाया गया है।

जिले में सालों से जमे हैं कर्मचारी

राज्य शिक्षा केंद्र द्वारा बनाए गए नियमों को दरकिनार कर भोपाल जिला शिक्षा केंद्र में काम किया जा रहा है। यहां अधिकांश पदों पर काम करने वाले कर्मचारी नियम विरुद्ध जमे हुए है। जिला शिक्षा केंद्र में सभी पद प्रतिनियुक्ति से भरे जाते है। प्रतिनियुक्ति न्यूनतम दो साल व अधिकतम चार साल तक दी जा सकती है। लेकिन यहां दस-दस सालों से कर्मचारी एक ही पद पर जमे हुए है। यहां कुछ कर्मचारी प्रतिनियुक्ति पर आए और उनका विभाग भी बंद हो गया। लेकिन सालों से यह कर्मचारी एक ही पद पर जमे हुए है। जिला शिक्षा केंद्र में वित्त का काम देख रहे वे भी जमे हैं। यह निगम मंडल बंद हो चुका है।

Posted By: Lalit Katariya

NaiDunia Local
NaiDunia Local