MP Election 2023: भोपाल (राज्य ब्यूरो)। मध्य प्रदेश कांग्रेस ने आगामी विधानसभा चुनाव की कार्ययोजना पर काम शुरू कर दिया है। संगठन को मजबूत करने के लिए उन लोगों को जिला अध्यक्ष और प्रदेश पदाधिकारी बनाया गया है, जिन्हें चुनाव नहीं लड़ाया जाना है। यही कारण है कि विधायकों को जिला अध्यक्ष और प्रदेश पदाधिकारी के दायित्व से मुक्त कर दिया गया। अपवाद स्वरूप बालाघाट जिले के बैहर विधानसभा क्षेत्र से विधायक संजय उइके को जिला इकाई का अध्यक्ष बनाया है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमल नाथ ने वरिष्ठ नेताओं से विचार-विमर्श करने के बाद ऐसे नेताओं के नाम जिला अध्यक्ष और प्रदेश पदाधिकारी बनाने के लिए प्रस्तावित किए थे, जो पूरा समय संगठन के लिए दे सकें।

उन्हें जगह जो पूरा समय संगठन को दे

अभी तक विधायक जिला इकाइयों के अध्यक्ष थे। उन्होंने चुनाव की तैयारी के लिए संगठन के दायित्व से मुक्त करने की इच्छा जताई थी। इसमें झूमा सोलंकी, राकेश मावई, फुंदेलाल सिंह मार्को शामिल हैं। उन्होंने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। वहीं, कुछ पदाधिकारी ऐसे हैं, जिन्होंने संगठन में काम करने की इच्छा जताई थी। यही कारण है कि नई टीम में उन नेताओं को प्रमुखता दी गई है, जो पूरा समय संगठन को दे सकें।

चुनाव न लड़ने की इच्छा जताई

पूर्व मंत्री और पार्टी के वरिष्ठ नेता सज्जन सिंह वर्मा का कहना है कि संगठन के कार्य का विस्तार हो रहा है। हाथ से हाथ जोड़ो अभियान सहित अन्य गतिविधियां संचालित होनी हैं। वहीं, चुनाव की तैयारी भी चल रही है। जिन्हें चुनाव लड़ना है, उन्हें संगठन के दायित्व से मुक्त कर दिया गया है। बैहर विधायक संजय उइके इसके अपवाद हैं, क्योंकि वहां की परिस्थिति अलग है। कई नेताओं ने चुनाव न लड़ने की इच्छा जताई थी, इसलिए ऐसे नेताओं को संगठन में स्थान दिया गया है, जिन्हें चुनाव नहीं लड़ना है या विशेष दावेदारी नहीं है।

Posted By: Prashant Pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close