MP Gehu Kharidi 2022: राज्य ब्यूरो, भोपाल। न्यूनतम समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीद अब 31 मई तक की जाएगी। इंदौर और उज्जैन को छोड़कर शेष प्रदेश में पहले 15 मई तक ही समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीद होना थी, जिसे अब 31 मई तक बढ़ा दिया गया है। गेहूं खरीद की समीक्षा के लिए बुलाई बैठक में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने यह घोषणा की। बैठक में कृषि, सहकारिता, मंडी बोर्ड एवं खाद्य विभाग के वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।

किसानों को गेहूं विक्रय करने का मौका मिलेगा

मुख्यमंत्री ने कहा कि किसानों को समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीद में किसी भी प्रकार की परेशानी नहीं होने दी जाए। किसानों के गेहूं का एक-एक दाना समर्थन मूल्य पर खरीदा जाए। गेहूं खरीद की तिथि बढ़ाने से किसानों को अपना गेहूं विक्रय करने का और मौका मिल सकेगा। जो किसान गेहूं विक्रय नहीं कर पाए हैं वे निर्धारित बढ़ी हुई तिथि में गेहूं विक्रय कर सकते हैं।

मध्य प्रदेश में पिछले साल गेहूं की रिकार्ड खरीदी हुई थी

चौहान ने कहा कि प्राकृतिक खेती के साथ प्रदेश में सोयाबीन एवं दालों की खेती को और अधिक बढ़ावा दिया जाए। बैठक में जानकारी दी गई कि प्रदेश में अभी तक 41 लाख 57 हजार मीट्रिक टन गेहूं की खरीद जा चुकी है। गौरतलब है कि पिछले वर्ष मध्य प्रदेश में गेहूं की रिकार्ड खरीद की गई थी। एक करोड़ 29 लाख टन से ज्यादा गेहूं न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीद कर मध्य प्रदेश ने पंजाब को पछाड़ दिया था।

गेहूं निर्यात पर लगा प्रतिबंध

गौरतलब है कि डीजीएफटी ने गेहूं के निर्यात को मुक्त श्रेणी से हटाकर प्रतिबंधित श्रेणी में डाल दिया। डीजीएफटी का यह आदेश शुक्रवार रात को जारी हुआ था और शनिवार सुबह कृषि मंडी के खुलते ही खलबली मच गई। इस दौरान गेहूं के दामों में गिरावट दर्ज हुई।

Posted By: Prashant Pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local