MP Nagariya Nikay Chunav: भोपाल (राज्य ब्यूरो)। ओबीसी आरक्षण रद किए जाने से उलझे नगरीय निकाय चुनाव पर सुप्रीम कोर्ट 17 मई को क्या निर्णय देता है, वह अलग बात है लेकिन सरकार मानकर चल रही है कि उसे चुनाव करवाना ही पड़ेगा। इसी चुनावी तैयारी को लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शनिवार रात सारे मंत्रियों की बैठक बुलाई। बैठक में सभी मंत्रियों की जिम्मेदारी तय करते हुए कहा गया कि उन्हें प्रभार के जिले के साथ गृह जिले में भी निकाय चुनाव की कमान संभालना है।

प्रभारी मंत्रियों से कहा गया कि वे 14 से 21 मई तक प्रभार के जिलों का दौरा करें और निकाय चुनाव से पहले हितग्राहियों को कैसे ज्यादा से ज्यादा लाभ पहुंचाया जा सकता है, उस पर काम करें। सभी प्रभारी मंत्रियों को गृह जिले और प्रभार के जिले में नगर निगम, नगर पालिका और नगर परिषद के प्रत्याशियों को जिताना होगा। मुख्यमंत्री द्वारा बुलाई गई बैठक में मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया को छोड़कर बाकी सभी मंत्री पहुंचे थे।

लगभग आधे घंटे चली बैठक में संभावना जताई गई कि मध्य प्रदेश में निकायों को लेकर 20 मई के बाद कभी भी आचार संहिता लग सकती है। इसलिए 20 मई के पहले शिवराज सरकार ने ग्राम एवं नगर स्तर की कई योजनाओं की प्रारंभ करने की तैयारी की है। किसानों के खाते में 18 मई को भेजी जाएगी 17 सौ करोड़ रुपये की रकम भेजी जाएगी। इसके अलावा भी ओबीसी हितग्राहियों को किसी भी तरह जिन योजनाओं का लाभ दिया जा सकता है, वह दिया जाएगा।

मोहल्ला क्लीनिक का भी 17 मई को उद्घाटन होगा नगर एवं पंचायत स्तर पर जो भी विकास कार्य प्रारंभ किए जा सकते हैं, उन्हें शुरू कराया जाए। मुख्यमंत्री और प्रभारी मंत्रियों की मौजूदगी में नगर एवं पंचायत स्तर पर विकास कार्यों को लेकर योजनाओं की शुरुआत की जाएगी। इसके लिए 14 से 21 मई तक सभी प्रभारी मंत्री जिले के दौरे पर रहेंगे।

ऐसा रहेगा कार्यक्रम

- मुख्यमंत्री 16 मई को संबल योजना के हितग्राहियों के बैंक खातों में राशि जमा कराएंगे।

- 17 मई को नगरोदय कार्यक्रम होगा। जिसमें मूंगदाल का वितरण और संजीवनी क्लीनिक के कार्यक्रम होंगे।

- मुख्यमंत्री 18 मई को किसानों के बैंक खाते में मध्य प्रदेश किसान कल्याण के 1700 करोड़ रुपये जमा कराए जाएंगे।

Posted By: Prashant Pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local