भोपाल (राज्य ब्यूरो)। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने देवास जिले के लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग (पीएचई) विभाग के कार्यपालन यंत्री (ईई) नारायण भिड़े को फटकार लगाई। दरअसल, हर घर नल से पानी पहुंचाने की योजना के बारे में जब सीएम ने सवाल पूछा कि जहां नल कनेक्शन हो गए हैं, उन घरों में पानी पहुंच रहा है या नहीं। इस सवाल का ईई ने गोलमोल जवाब दिया। तब मुख्यमंत्री ने कलेक्टर को निर्देश दिए कि इस बारे में तथ्यात्मक स्थिति का पता लगाएं।

दरअसल, शनिवार सुबह एक समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री ने देवास कलेक्टर से जलजीवन मिशन योजना के तहत सवाल किया कि इसमें क्या प्रगति है। कलेक्टर देवास ने बताया कि ढाई लाख कनेक्शन का टारगेट है। काम तेजी से चल रहा है, लगभग सवा लाख पूरे हो चुके हैं, समय सीमा में पूरे करने के प्रयास है। इस पर सीएम ने पूछा कि 'ये बताओ कि जो कनेक्शन दिए हैं क्या उनमें पानी आ रहा है या सिर्फ खानापूर्ति की गई है? पीएचई के अधिकारी बताएं कि कुछ गांव से जनप्रतिनिधियों की कुछ शिकायतें क्यों आ रही हैं। ईई भिड़े ने बताया कि जिले में 166 गांव में हर घर जल पहुंच चुका है। फिर सीएम ने पूछा कि रिस्टोरेशन का कार्य हुआ कि नहीं? कहीं गड्ढे खुदे तो नहीं पड़े हैं। इसके जवाब से सीएम असहमत थे और उन्होंने कहा आप गलत रिपार्टिंग क्यों कर रहे हैं। ये नहीं चलेगा। कलेक्टर देखे इसे, रिस्टोरेशन की समीक्षा करें। जहां काम नहीं हुआ है उसकी सूची मुझे दें।

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close