MP News:भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। सीधी भर्ती के जरिए सरकार कई सारे पद भरने जा रही है जिसके बाद नगर निगम के आधा दर्जन से ज्यादा कर्मचारी संगठनों ने लामबंद होकर संयुक्त मोर्चा बनाया है जो दिसंबर माह में अपनी मांगों को लेकर हड़ताल करने जा रहा है। संगठन के पदाधिकारी अशोक वर्मा ने बताया कि लंबे समय से निगम में प्रमोशन नहीं हुआ है। दैनिक वेतनभोगी से विनयमित किए गए कर्मचारियों को अभी तक नियमित नहीं किया गया है। इसी तरह करीब डेढ़ दशक से कई 29 दिवसीय कर्मचारियों के भविष्य को लेकर भी सवाल खड़े है तो वहीं सफाई कामगार से लेकर अन्य कर्मचारियों के नियमितीकरण को लेकर भी निगम प्रशासन की सोच नहीं है। यही वजह है कि सारे संगठनों ने मिलकर दिसंबर में तीन दिनी विरोध प्रदर्शन की रूपरेखा तैयार की है। संयुक्त मोर्चा के अध्यक्ष अनिल श्रवण ने बताया कि कर्मचारी हित में 5 दिसंबर को सभी कर्मचारी काली पट्टी बांधकर अपना विरोध जताएंगे। इसके बाद 8 दिसंबर को सभी कर्मचारी दोपहर बाद धरना देकर अपनी बात निगम प्रशासन के समक्ष रखेंगे। इसके बाद यदि उचित समाधान नहीं हुआ तो 12 दिसंबर से कर्मचारी सारे कामकाज छोड़कर अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाएंगे। कर्मचारी हित में यह फैसला लिया गया है। संगठन के एक अन्य पदाधिकारी अल्ताफ सिद्दीकी ने बताया कि लंबे समय से मूल कर्मचारियों के साथ भेदभाव हो रहा है। कई कैडर एक होने के बाद भी न तो समय पर प्रमोशन दिया जा रहा है और न ही कोई सुनवाई हो रही है। इसी के विरोध में यह प्रदर्शन का निर्णय लिया गया है।

उधर एक अन्य कर्मचारी संगठन से जुड़े दिलीप सेठी ने बताया कि विनयमित कर्मचारियों की सुनवाई नहीं हो रही है जिसके बाद आंदोलन ही अंतिम रास्ता बचा है। उधर 29 दिवसीय कर्मचारी को लामबंद करने वाले नवल गौरे ने बताया कि सबसे दयनीय स्थिति में श्रमिक के तौर पर रखे गए 29 दिवसीय कर्मचारी है जिनके हक के लिए अभी तक कोई आवाज नहीं उठी है। इस प्रदर्शन के जरिए हम बताएंगे कि सारी व्यवस्थाओं का एक बड़ा हिस्सा इन्हीं कर्मचारियों के पास है इसके बावजूद उनकी अनदेखी की जा रही है।

Posted By: Lalit Katariya

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close