MP News : भोपाल (राज्य ब्यूरो)। मध्य प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनाव की तैयारी शुरू हो गई है। इस बार 18-19 वर्ष के नए युवा मतदाताओं के वोटर कार्ड बनाने और महिला मतदाताओं का जेंडर रेशियो बढ़ाने पर जोर दिया जा रहा है। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी अनुपम राजन ने प्रदेश भर के उप जिला निर्वाचन अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिए हैं कि जिन जिलों में 18-19 वर्ष की आयु के नए मतदाताओं के आवेदन कम मिले हैं वहां विशेष प्रयास किए जाएं। साथ ही जहां पुरुष मतदाताओं की तुलना में महिला मतदाताओं की संख्या कम है, ऐसे जिलों में जेंडर रेशियो बढ़ाने के लिए आंगनवाड़ी और आशा कार्यकर्ता की मदद ली जाए। यदि लक्ष्य के अनुरूप नए मतदाताओं का नाम सूची में जोड़ने के आवेदन नहीं आ रहे हैं तो ऐसी स्थिति में बीएलओ घर-घर जाकर आवेदन लें।

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी अनुपम राजन गुरुवार को मतदाता सूची के विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण 2023 को लेकर जिलों में चल रही गतिविधियों की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने ईपी रेशियो, जेंडर रेशियो सहित ब्लैक एंड ह्वाइट फोटो को कलर में बदलने को लेकर चर्चा की। वीडियो कांफ्रेंस से हुई समीक्षा बैठक में सभी जिलों के उप जिला निर्वाचन अधिकारी सम्मिलित हुए। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी राजन ने कहा कि मिलने वाले फार्मों को उसी दिन गरुड़ा एप के माध्यम से अपलोड करें। साथ ही उन्होंने उप जिला निर्वाचन अधिकारियों को लगातार निरीक्षण करने के निर्देश दिए। 18-19 वर्ष के सभी युवा मतदाताओं का नाम सूची में जोड़ने के लिए कालेजों में शिविर लगाए जाएं। 17 साल से अधिक उम्र के युवा भी सूची में अपना नाम जुड़वाने का आवेदन अग्रिम रूप से दे सकते हैं, इसके लिए अभियान चलाकर जागरूकता कार्यक्रम चलाए जाएं। प्रदेश में नौ नवंबर से मतदाता सूची के विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण 2023 का शुभारंभ हो चुका है। इसमें आठ दिसंबर तक आवेदन लिए जाएंगे। प्राप्त हुए आवेदनों का 26 दिसंबर तक निराकरण किया जाएगा। इसके बाद पांच जनवरी 2023 को अंतिम मतदाता सूची का प्रकाशन किया जाएगा।

Posted By: Lalit Katariya

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close