भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। स्कूलों में हर साल बाल दिवस तो मनाया ही जाता है, लेकिन इस साल से वीर बाल दिवस मनाया जाएगा। इसे लेकर स्कूलों में तैयारियां शुरू कर दी गई है। सरकारी स्कूलों में आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत वीर बाल दिवस का आयोजन किया जाएगा। यह दिवस दसवें सिख गुरु गोविंद सिंह के छोटे पुत्रों जोरावर सिंह और फतेह सिंह द्वारा दिए गए बलिदान के अवसर पर 26 दिसंबर को मनाया जाता है। इस संबंध में लोक शिक्षण संचालनालय (डीपीआइ) ने आदेश जारी कर दिया है। आदेश में लिखा है कि सभी सरकारी स्कूलों में 25 दिसंबर से शीतकालीन अवकाश है। इस कारण प्रदेश के सभी स्कूलों में 19 से 24 दिसंबर के बीच में किसी एक दिन वीर बाल दिवस मनाया जाएगा।

विद्यार्थियों को प्रार्थना सभा में जागरूक किया जाए

आदेश में लिखा है कि इस दिन प्रार्थना सभा में गुरु गोविंद सिंह के छोटे पुत्रों द्वारा दिए गए बलिदान के संबंध में विद्यार्थियों को जानकारी दी जाए। इसमें उल्लेखित किया गया है कि गुरू गोविंद सिंह के छोटे पुत्रों जोरावर सिंह और फतेह सिंह द्वारा नौ और छह साल की उम्र में सिख पंथ की गरिमा और सम्मान की रखा के लिए 26 दिसंबर 1705 को दिए गए उनके सर्वोच्च और अप्रतिम बलिदान के सम्मान में वीर बाल दिवस मनाया जा रहा है। इसके लिए स्थानीय स्तर पर इस विषय के जानकार व्यक्तियों को विद्यार्थियों को संबोधित करने के लिए आमंत्रित किया जाए। संस्कृति विभाग के अंतर्गत पंजाबी साहित्य अकादमी द्वारा इसके लिए आवश्यक सहयोग देने के लिए पत्र लिखा गया है।

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close