भोपाल । बेंगलुरु स्थित कांग्रेस के बागी विधायकों की प्रेस कांन्फ्रेंस होने के तत्काल बाद भोपाल में कांग्रेस ने भी प्रेस कांन्फ्रेंस करके पलटवार किया। इस दौरान कमलनाथ सरकार में मंत्री पीसी शर्मा ने तंज कसते हुए कहा कि वे सभी विधायक बेंगलुरु के विधायक नहीं, जो वहां बैठकर प्रेस कान्फ्रेंस कर रहे हैं। उन्हें भोपाल आकर अपनी बात रखनी चाहिए। पीसी शर्मा ने कमलनाथ सरकार के कामकाज की तारीफ करते हुए कहा कि तुलसी सिलावट के जरिए ही प्रदेश में कई काम हुए। वहीं 55 लाख किसानों के कर्ज माफ किए गए। उन्होंने फिर कहा कि बेंगलुरु स्थित विधायक दबाव में है। प्रेस कान्फ्रेंस में मंत्री पीसी शर्मा ने बागी 6 मंत्रियों के वीडियो भी दिखाए, जिसमें वे कमलनाथ सरकार की तारीफ करते हुए दिखाई दे रहे हैं।

गौरतलब है कि मध्यप्रदेश में जारी सियासी घमासान के बीच बेंगुलरू में बैठे कांग्रेस के 22 बागी विधायकों ने पहली बार मंगलवार को खुलकर अपने मन की बात कही। बेगंलुरू में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बारी-बारी से विधायकों ने बताया कि उन्होंने ऐसे कदम क्यों उठाया। विधायकों ने बताया कि वे अपनी मर्जी से वहां आए हैं। उन्हें किसी ने बंधक नहीं बनाया है। वे जानते हैं कि क्या कर रहे हैं।

सभी विधायकों ने मुख्यमंत्री Kaman Nath को निशाना बनाया और उनके काम करने के तरीके पर आपत्ति दर्ज करवाई। यहां तक आरोप लगाया गया कि मुख्यमंत्री Kaman Nath ने कभी उनकी बात ठीक से नहीं सुनी। विधायकों का दावा हमारे साथ अभी 20 और विधायक आएंगे क्योंकि जो कांग्रेस सरकार के साथ विधायक है वो भी हमारे साथ आएंगे।

विधायकों ने कही 10 बड़ी बातें

- सीएम कमलनाथ का ध्यान सिर्फ छिंदवाड़ा के विकास पर।

- हमें बंधक नहीं बनाया गया, सभी अपनी मर्जी से बेंगलुरु में हैं।

- 22 विधायकों ने इस्तीफा दिया तो सिर्फ 6 का ही इस्तीफा मंजूर क्यों किया गया।

- सीएम के पास हमारे क्षेत्र की समस्या सुनने के लिए 15 मिनट का भी समय नहीं रहा।

- कांग्रेस के सबसे वरिष्ठ विधायक बिसाहूलाल को न तो मंत्री बनाया और न ही विधानसभा अध्यक्ष।

- मध्य प्रदेश सरकार दलालों की सरकार है, विधायकों के आवेदन पर कोई काम नहीं होता।

- कोरोना को लेकर इतना डर था तो मंत्रालय वल्लभ भवन में छुट्टी क्यों नहीं की गई।

- कुछ विधायकों ने कहा, सिंधिया को चेहरा बनाकर चुनाव लड़ा गया और कमलनाथ को सीएम बनाया।

- राहुल गांधी के पास भी विधायक अपनी समस्याएं लेकर गए, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई।

- केंद्रीय सुरक्षा बल की सुरक्षा में भोपाल जाने के लिए सभी विधायक तैयार।

Posted By: Sandeep Chourey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना