MP Ranji Trophy Champion 2022: भोपाल नईदुनिया प्रतिनिधि। प्रदेश की युवा क्रिकेट टीम ने रणजी ट्राफी का खिताब अपने नाम करते हुए इतिहास रच दिया। टीम की इस ऐतिहासिक विजय पर राजधानी भोपाल में भी जश्‍न का माहौल है। लोग सुबह से ही टीवी से चिपके बैठे थे और जैसे ही टीम के जांबाजों ने 41 बार की चैंपियन टीम मुंबई पर छह विकेट से जीत दर्ज की, लोग खुशी से उछल पड़े। मध्य प्रदेश टीम की जीत को लेकर हर जगह उत्साह और खुशी का माहौल बन गया है। क्रिकेट अकादमियों एवं मैदानों में सीनियर एवं जूनियर क्रिकेट खिलाड़ी एक साथ मैच का आनंद लेते रहे।

मप्र की रणजी चैंपियन टीम के कप्‍तान आदित्‍य श्रीवास्‍तव भोपाल के कोलार इलाके में अपने परिवार के साथ रहते हैं। उनके मम्‍मी-पापा समेत पूरा परिवार आज सुबह से ही टीवी से चिपका रहा। जैसे ही टीम ने विजयी स्‍कोर दर्ज किया, सब लोग खुशी से झूम उठे। इसके तुरंत बाद फोन पर उन्‍हें बधाई देने वालों का तांता लग गया।

बचपन में मेरा बेटा मोगरी से खेलता था

टीम के एक और खिलाड़ी यश दुबे के घर पर भी यही आलम था। टीम की इस ऐतिहासिक जीत में यश दुबे के योगदान पर उनके माता-पिता गौरवान्‍वित और भावुक नजर आए। उनकी मां ने यश के बचपन के दिनों को याद करते हुए कहा कि मेरा बेटा पहले मोगरी से खेलता था। हमने उसके हाथ में बल्‍ला थमा दिया। उससे कहा कि पढ़ाई भी हो जाएगी, लेकिन जिसमें तुम्‍हारी दिलचस्‍पी है, पहले उसे पूरा करो। हमें खुशी है कि बेटे ने अपने नाम (यश) को सार्थक कर दिया।

गौरतलब है कि इससे पहले वर्ष 1998-99 में मध्यप्रदेश की टीम ने रणजी के फायनल में पहुंची थी, लेकिन तब उसे हार का मुंह देखना पड़ा था। अब पूरे 23 साल बाद फिर वही मौका मध्यप्रदेश टीम को मिला। इस बार मध्यप्रदेश टीम ज्यादा मजबूत नजर आई और उसने शानदार ढंग से ट्राफी को अपने नाम करके ही दम लिया।

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close