MP Teacher Recruitment Process: भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। स्कूल शिक्षा विभाग ने शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया शुरू कर दी है। एक जुलाई से अभ्यर्थियों के मूल दस्तावेजों का सत्यापन कार्य शुरू होगा। इसमें बीएड अंतिम वर्ष में अध्ययनरत अभ्यर्थी शामिल नहीं हो पाएंगे।

दरअसल, शिक्षक पात्रता परीक्षा में बीएड अंतिम वर्ष में अध्ययनरत विद्यार्थियों को बैठने का मौका दिया गया, लेकिन लॉकडाउन के कारण उनकी परीक्षा नहीं हो पाई। ऐसे में उनका परिणाम भी नहीं आया। मार्कशीट न होने के कारण ऐसे अभ्यर्थी आयोग्य हो गए हैं।

इन अभ्यर्थियों ने मुख्यमंत्री को ज्ञापन देकर भर्ती में कोविड-19 के चलते एक वर्ष के लिए बीएड करने की छूट प्रदान करने की मांग की है। उनका कहना है कि परिवीक्षा अवधि के एक वर्ष के अंदर बीएड पूर्ण करने की छूट प्रदान की जाए। वहीं शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया में मूल दस्तावेज का सत्यापन संयुक्त संचालक और जिला शिक्षा अधिकारियों के पास होगा। ज्ञात हो कि उच्च माध्यमिक के 15 हजार और माध्यमिक के 5670 पदों पर भर्ती प्रक्रिया चल रही है।

वहीं विभाग के अधिकारियों का कहना है कि भर्ती प्रक्रिया के समय अंतिम वर्ष के अभ्यर्थियों के पास मार्कशीट होना अनिवार्य है। शिक्षक भर्ती प्रक्रिया के लिए दिसंबर 2019 में विज्ञापन निकला है। ऐसे में अगर बीएड अंतिम वर्ष के विद्यार्थियों की परीक्षा मार्च में होती, उसके बाद भी वे पात्र नहीं होते। सभी पात्र अभ्यर्थियों के पास मूल दस्तावेज जरूरी है।

इनका कहना है

शिक्षक भर्ती के लिए दिसंबर 2019 में विज्ञापन निकला था। जिन अभ्यर्थियों के पास मार्कशीट नहीं है, वे शिक्षक भर्ती के लिए पात्र नहीं होंगे।

गौतम सिंह, संचालक, लोक शिक्षण

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना