MP Tourism cabinet: भोपाल। नवदुनिया स्टेट ब्यूरो। पर्यटन के क्षेत्र में रोजगार की खूब संभावनाएं हैं। प्रदेश में इसका तेज गति से विकास करके न सिर्फ भारत में पर्यटन के क्षेत्र में अग्रणी राज्य बनाना है। इसके लिए निवेशकों को भी आकर्षित किया जाएगा। जिन्हें पर्यटन के लिए सरकारी भूमि पट्टे पर दी गई है, उन्हें धनराशि जुटाने भूमि पर बैंक से ऋण लेने की पात्रता होगी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में गुरुवार को देर शाम हुई पहली पर्यटन कैबिनेट में इस प्रस्ताव को मंजूरी दी गई। इस दौरान विभाग के प्रमुख सचिव शिवशेखर शुक्ला ने पर्यटन गतिविधियों को लेकर प्रस्तुतिकरण भी दिया।

बैठक में वर्ष 2008 की भूमि पट्टे पर देने के नीति में संशोधन करने का प्रस्ताव रखा गया। इस नीति के तहत जिन्हें भूमि दी गई थी, उन्हें भूमि के आधार पर बैंक से ऋण लेने की पात्रता नहीं थी। जबकि, इसके बाद आई नीतियों में यह प्रविधान रखा गया। इसके मद्देनजर सरकार ने तय किया है कि वर्ष 2008 की नीति में जिन्हें भूमि आवंटित की गई थी, उन्हें बैंक से ऋण लेने की पात्रता दी जाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि मध्यप्रदेश में धार्मिक एवं आध्यात्मिक पर्यटन की अपार संभावनाएं हैं। देश में बुद्धिस्ट, रामायण, तीर्थंकर सर्किट विकसित किए जा रहे हैं।

सालरिया गो अभयारण्य जैसे स्थानों पर ध्यान एवं आयुष चिकित्सा के अंतर्गत पंचकर्म आदि पर केंद्रित पर्यटन कंद्र प्रारंभ किए जा सकते हैं। इस दौरान पर्यटन विभाग के प्रमुख सचिव ने बताया कि मध्यप्रदेश का देश में पर्यटन के क्षेत्र में सातवां स्थान है। वर्ष 2017 के बाद प्रदेश में आने वाले पर्यटकों की संख्या में काफी वृद्धि हुई है। वर्ष 2017 में 5.88 करोड़ पर्यटक मध्यप्रदेश आए थे। वहीं, वर्ष 2019 में यह संख्या बढ़कर 8.90 करोड़ पहुंच गई।

45 फिल्म और सीरियल की शूटिंग संभावित

प्रस्तुतिकरण में बताया गया कि प्रदेश की फिल्म पर्यटन नीति के तहत प्रदेश में फिल्म, टीवी सीरियल, वेब सीरीज आदि निर्माण के लिए दस करोड़ रुपये तक अनुदान दिया जाता है। यह प्रविधान काफी लोकप्रिय हो रहा है। वर्तमान में पांच फिल्मों की शूटिंग चल रही है। लगभग 45 फिल्म, वेब सीरीज, टीवी सीरियल आदि की शूटिंग संभावित है।

कैंपिंग नीति 2018 और जल पर्यटन नीति 2017 के कारण साहसिक एवं जल क्रीड़ा पर्यटन में काफी वृद्धि हुई है। फिल्म एंड प्री वेडिंग शूटिंग तथा डेस्टिनेशन टूरिज्म पॉलिसी भी बनाई गई है। पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए मध्यप्रदेश में रिस्पांसिबल टूरिज्म मिशन चालू किया गया है। इसके तहत ग्रामीण एवं जनजातीय पर्यटन, अनुभव आधारित पर्यटन, हस्तकला एवं हस्तशिल्प पर्यटन, स्वस्थ जीवन शैली पर्यटन को बढ़ावा दिया जा रहा है।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस