भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। अलग-अलग स्थानों पर बनी चार मौसम प्रणालियों के असर से वर्तमान में हवाओं का रुख उत्तरी एवं दक्षिण-पूर्वी बना हुआ है। हवाओं के साथ आ रही नमी के कारण मध्य प्रदेश के अधिकतर शहरों में बादल छा गए हैं। साथ ही कहीं-कहीं वर्षा भी हो रही है। इसी क्रम में पिछले 24 घंटों के दौरान बुधवार सुबह साढ़े आठ बजे तक ग्वालियर में 11.8, दतिया में 2.4, शिवपुरी में एक, उज्जैन में 0.6 एवं गुना में 0.3 मिलीमीटर वर्षा हुई। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक बुधवार को भोपाल, इंदौर, उज्जैन, सागर, ग्वालियर संभागों के जिलों में बूंदाबांदी होने की संभावना है। साथ ही सागर, राजगढ़, गुना, शिवपुरी, अशोकनगर, छतरपुर, टीकमगढ़ जिले में कहीं-कहीं ओले गिरने की भी आशंका है।

मौसम विज्ञान केंद्र से मिली जानकारी के मुताबिक वातावरण में नमी रहने के कारण बुधवार को राजधानी भोपाल में सुबह से ही बादल बने हुए हैं। शहर का न्यूनतम तापमान 15.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो सामान्य से चार डिग्री सेल्सियस अधिक बना हुआ है। मंगलवार को शहर का अधिकतम तापमान 28.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था, जो सामान्य से तीन डिग्री सेल्सियस अधिक रहा था। बादल बने रहने के कारण बुधवार को अधिकतम तापमान 27 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने की संभावना है।

मौसम विज्ञान केंद्र के पूर्व वरिष्ठ विज्ञानी अजय शुक्ला ने बताया कि वर्तमान में एक पश्चिमी विक्षोभ पाकिस्तान के आसपास बना हुआ है। इसके प्रभाव से राजस्थान पर एक प्रेरित चक्रवात बना हुआ है। पश्चिम बंगाल पर एक प्रति-चक्रवात बना हुआ है। इसके अतिरिक्त अरब सागर से लेकर राजस्थान पर बने चक्रवात से लेकर उत्तर प्रदेश तक एक ट्रफ बना हुआ है। इन चार मौसम प्रणालियों के असर से आ रही नमी के कारण मध्य प्रदेश के अधिकतर जिलों में बादल बने हुए हैं। साथ ही कहीं-कहीं हल्की वर्षा भी हो रही है। बुधवार को सागर, राजगढ़, गुना, शिवपुरी, अशोकनगर, छतरपुर, टीकमगढ़ जिले में कहीं-कहीं ओले गिरने की भी आशंका है।

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close