भोपाल। अरब सागर और उससे लगे गुजरात के दक्षिणी क्षेत्र पर एक कम दबाव का क्षेत्र बन गया है। इसके रविवार सुबह तक और गहरा होने की संभावना है। इस सिस्टम के असर से पश्चिमी मप्र में दो-तीन दिन तक रुक-रुक कर तेज बौछारें पड़ने के आसार हैं। विशेषकर इंदौर, उज्जैन, आलीराजपुर क्षेत्र में अच्छी बरसात हो सकती है।

मौसम विज्ञान केंद्र के प्रवक्ता के मुताबिक प्रदेश में शनिवार सुबह तक सामान्य से 35 फीसदी अधिक बरसात हो चुकी है। उधर शनिवार को सुबह 8:30 बजे से शाम 5:30 बजे तक खरगोन में 46, गुना में 45, धार में 7, भोपाल में 6.8, इंदौर में 6, ग्वालियर में 2.7, शाजापुर,उज्जैन और श्येपुरकला में 2 मिमी. बरसात हुई।

वरिष्ठ मौसम विज्ञानी उदय सरवटे ने बताया कि अरब सागर में बने सिस्टम से प्रदेश में नमी आने का सिलसिला शुरू हो गया है। इस सिस्टम के रविवार सुबह तक और गहरा होने की संभावना है।

इससे पश्चिमी मप्र में वर्षा की गतिविधियों में तेजी आएगी। साथ ही वातावरण में नमी बढ़ने से प्रदेश के कई स्थानों पर गरज-चमक के साथ हल्की बौछारें पड़ने का सिलसिला भी तेज होगा। सरवटे के मुताबिक रुक-रुक कर बरसात की गतिविधियां सितंबर माह के अंत तक जारी रहने के आसार हैं।