MPBSE Exam Result : भोपाल। माध्यमिक शिक्षा मंडल (माशिमं) की 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षा का रिजल्ट जुलाई में घोषित होगा। 10वीं का रिजल्ट जुलाई के पहले सप्ताह में और 12वीं का जुलाई के तीसरे सप्ताह में जारी हो सकता है। रिजल्ट को लेकर मंडल की हेल्पलाइन में कॉल की संख्या चार गुनी हो गई है। अभी हर रोज करीब 2000 कॉल आ रहे हैं। 10वीं व 12वीं के विद्यार्थी एक ही सवाल कर रहे हैं कि रिजल्ट किस तारीख को जारी होगा। वहीं कई विद्यार्थियों ने पूछा है कि कुछ पेपर अच्छे नहीं गए हैं तो फेल होने की आशंका है। इस पर काउंसलर ने समझाया कि घबराएं नहीं, बल्कि फिर से तैयारी में जुट जाएं। अभिभावकों को भी सलाह दी जा रही है कि बच्चों का ध्यान रखें। उनका अंकों से आंकलन न करें। ज्ञात हो कि 1 जनवरी से अब तक हेल्पलाइन में 91 हजार कॉल आए हैं।

लॉकडाउन में 60 हजार कॉल आए

हेल्पलाइन प्रभारी ने बताया कि लॉकडाउन में विद्यार्थियों में परीक्षा को लेकर तनाव अधिक था। उस दौरान तीन माह में 60 हजार विद्यार्थियों के कॉल आए। इन सभी की काउंसिलिंग की गई।

इस तरह के पूछ रहे हैं प्रश्न

सवाल :- 10वीं का रिजल्ट किस तारीख को घोषित होगा?

जवाब :- अभी तारीख तय नही की गई है, लेकिन जुलाई के प्रथम सप्ताह में रिजल्ट आने की संभावना है।

सवाल :- क्वारंटाइन विद्यार्थियों के लिए विशेष परीक्षा कब होगी?

जवाब :- अभी विशेष परीक्षा की तारीख घोषित नहीं की गई है।

सवाल :- अगर फेल हो गया तो आगे क्या करूंगा?

जवाब :- घबराएं नहीं स्वीकार करें। दोगुने उत्साह के साथ फिर से तैयारी में जुट जाएं।

सवाल :- रिजल्ट के बाद सप्लीमेंट्री की परीक्षा कब होगी?

जवाब :- रिजल्ट के बाद जल्द ही सप्लीमेंट्री परीक्षा ले ली जाएगी।

सवाल :- दसवीं में दो पेपर नहीं हुए तो रिजल्ट किस तरह तैयार होगा?

जवाब :- दसवीं में निरस्त किए गए दोनों पेपर में पास किया जाएगा। जितने पेपर हुए हैं उसके आधार पर रिजल्ट बनेगा।

अभी 90 फीसदी से अधिक कॉल परीक्षा परिणाम को लेकर आ रहे हैं। अभी एक दिन में करीब 2 हजार कॉल आ रहे हैं। - डॉ हेमंत शर्मा, डायरेक्टर, माशिमं

एक दिन में आने वाले कॉल्स - 2028

सुबह - 619

दोपहर - 861

शाम - 548

अभिभावक क्या करें

- बच्चों का अंकों से आंकलन न करें

- कम अंक आने पर उनकी तुलना दूसरे बच्चों के साथ न करें।

- तुलना करने से बच्चों के अंदर खुद से प्रतिस्पर्धा खत्म हो जाती है।

- रिजल्ट आने के बाद बच्चों पर नजर रखें ।

- ज्यादा से ज्यादा समय बच्चों के साथ रहें।

- बच्चों से हमेशा बातचीत करें।

विद्यार्थी क्या करें

- जैसा भी रिजल्ट आए उसे स्वीकार करें।

- अगर उम्मीद के मुताबिक परिणाम नहीं आया तो कोई बात नहीं, यह अंतिम परिणाम नहीं है।

- कभी अपने रिजल्ट की तुलना दोस्तों से ना करें।

- कभी निराश ना हो, दोगुने उत्साह से जुट जाएं।

- अंकों से आपकी प्रतिभा का आंकलन नहीं किया जा सकता है।

Posted By: Prashant Pandey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना