फोटो जेड में भारत विचार मंच के नाम से दो फाटो हैं।

-एमपीनगर बोर्ड ऑफिस स्थित एक होटल में 'आंतरिक सुरक्षा एवं संगठित चुनौतियां' विषय पर संवाद का आयोजन

भोपाल। नवदुनिया प्रतिनिधि

एक परिवार पर साल 2009 के चुनाव में हार का खतरा मंडराया तो इसके लिए योजनाबद्घ तरीके से हिन्दू व भगवा आतंकवाद जैसे शब्द गढ़े गए। मालेगांव ब्लास्ट जैसी वारदात को अंजाम दिलवाया गया। इसमें साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर, 80 साल के असीमानंद व सेवानिवृत कर्नल पुरोहित को आरोपी बनाकर,उन्हें यातनाएं दी गईं। हिंदुओं को बदनाम करने की पूरी साजिश हुई।

यह बात रॉ एजेंसी के पूर्व संचालक सेवानिवृत कर्नल आरएसएन सिंह ने एमपी नगर बोर्ड ऑफिस स्थित एक होटल में रविवार को कही। वे भारत विचार मंच द्वारा आयोजित 'आंतरिक सुरक्षा एवं संगठित चुनौतियां' पर संवाद के आयोजन में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि जब हिन्दू व भगवा आंतकवाद का कोई सबूत नहीं मिला तो समझौता ब्लास्ट व अन्य घटनाओं से कड़ी जोड़ने की कोशिश की गई। लेकिन सभी में उन्हें नाकामी मिली।

कार्यक्रम में वरिष्ठ पत्रकार पुष्पेंद्र कुलश्रेष्ठ ने कहा कि बीते 70 सालों के दरमियान कई तरह के मुद्दों पर चुनाव लड़े गए। पहली बार राष्ट्रवाद लोकतंत्र के इस महापर्व का हिस्सा बना है। इस पर अपनी मुहर लगा कर राष्ट्र को मजबूत बनाएं। देश की आंतरिक सुरक्षा के लिए खतरा बनी ताकतों को परास्त करने में अहम भूमिका निभाएं।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना