मध्‍य प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमल नाथ ने कहा- सरकार की इस तानाशाही के आगे नहीं झुकेंगे

भोपाल (राज्य ब्यूरो)। राष्ट्रीय शिक्षा नीति, शिक्षा के निजीकरण, अनुसूचित जाति-जनजाति और पिछड़ा वर्ग के विद्यार्थियों की छात्रवृत्ति में कटौती के साथ भुगतान नहीं करने के मुद्दे को लेकर गुरुवार को भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन (एनएसयूआइ) के कार्यकर्ता मुख्यमंत्री आवास का घेराव करने निकले। इस दौरान उनकी पुलिस बल के साथ जमकर झड़प हुई। बैरिकेड लांघने की कोशिश कर रहे कार्यकर्ताओं को रोकने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा। इसमें कई कार्यकर्ता घायल हो गए और उन्हें अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमल नाथ ने कहा कि सरकार युवाओं को रोजगार तो दे नहीं पा रही है, पर उनके ऊपर लाठियां जरूर बरसा रही है। कार्यकर्ता सरकार की इस तानाशाही के आगे झुकने वाले नहीं हैं।

मुख्यमंत्री आवास का घेराव करने के लिए निकलने से पहले राजधानी में शिवाजी नगर स्थित प्रदेश कांग्रेस कार्यालय के बाहर सभा हुई। इसमें प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमल नाथ, संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीरज कुंदन, प्रदेश अध्यक्ष मंजुल त्रिपाठी सहित अन्य पदाधिकारियों ने कार्यकर्ताओं को संबोधित किया। इसके बाद सभी लिंक रोड नंबर एक से मुख्यमंत्री आवास की ओर आगे बढ़े। रेडक्रास चौराहा के पास पुलिस ने बैरिकेड लगाकर कार्यकर्ताओं को आगे बढ़ने से रोकने के पुख्ता इंतजाम किए थे। जैसे ही कार्यकर्ता बैरिकेड लांघने की कोशिश करने लगे तो पुलिस बल ने लाठीचार्ज करके कार्यकर्ताओं को खदेड़ दिया।

यह क्रम कई बार चला और फिर कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी हुई। प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री (मीडिया) केके मिश्रा ने पुलिस द्वारा किए लाठीचार्ज की निंदा करते हुए कहा कि सादी वर्दी में छिपे पुलिसकर्मियों ने खुद पथराव कर संगठन क कार्यकर्ताओं को बदनाम किया है। प्रदेश कांग्रेस कार्यालय परिसर में घुसकर कार्यकर्ताओं के साथ मारपीट की गई है, जो बेहद आपत्तिजनक है।

उन्होंने कार्यकर्ताओं को बताया कि हमारा मुकाबला भाजपा के संगठन से है। प्रदेश में एक हजार 330 कालेज हैं। आपको इनमें संगठन बनाना है। आपका यह जोश भोपाल तक सीमित नहीं रहना चाहिए। आप संकल्प ले लें तो प्रदेश में कांग्रेस की सरकार आने से कोई नहीं रोक सकता है। वहीं, संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीरज कुंदन ने कहा कि कोरोनाकाल में जो नई शिक्षा नीति लागू की गई, उससे विद्याथियों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। सरकार शिक्षा के निजीकरण की ओर आगे बढ़ रही है। इसको लेकर देशभर में शिक्षा बचाओ, देश बचाओ अभियान चलाया था। एनएसयूआइ के प्रदेश अध्यक्ष मंजुल त्रिपाठी ले कहा कि संगठन विद्यार्थियों की आवाज लगातार उठाता रहेगा।

झंडे-बैनर, पोस्टर से कुछ नहीं होने वाला, हर कालेज में संगठन बनाओ

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमल नाथ ने एनएसयूआइ के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि झंडे-बैनर और पोस्टर लगाने से कुछ नहीं होने वाला है। हर कालेज में संगठन बनाओ। आज आप यहां प्रदेशभर से कोई ठेका या कमीशन लेने के लिए नहीं आए हैं बल्कि कांग्रेस की उस संस्कृति से जुड़े हैं, जो देश की संस्कृति है। आज के युवाओं को बेरोजगार घूमता देख मुझे बड़ी चिंता होती है। किसान, महिला और व्यापारी भी परेशान हैं। 15 माह की सरकार में हमने अपनी नीयत और नीति का परिचय दिया था। आपको किसी से माफी मांगने की जरूरत नहीं है। उन्होंने भाजपा को चुनौती देते हुए कहा कि आप अपने 18 साल की सरकार का हिसाब लेकर आ जाइए और मैं 15 माह की सरकार का रिकार्ड लेकर आता हूं।

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local