Naidunia Exclusive: मोहम्मद रफीक, भोपाल। फर्जी प्रमाण पत्रों के आधार पर पुलिस विभाग में नौकरी पाने वालों के खिलाफ बड़ी कार्रवाई करते हुए 29 पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया है। इन पुलिसकर्मियों पर आरोप है कि व्यापम 2013 में आयोजित लोक शिक्षण संचालनालय(डीपीआइ) से मिले शार्ट हैंड, हिंदी-अंग्रेजी टाइपिंग परीक्षा प्रमाण पत्र के आधार पर इन्हें नौकरी मिली थी। यह प्रमाण पत्र फर्जी थे।

व्यापम की इस परीक्षा में फर्जीवाड़ा होने की जांच स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) द्वारा की जा रही है। लंबे समय से जारी जांच में इन प्रमाण पत्रों को फर्जी पाया गया। एसटीएफ द्वारा पुलिस विभाग में कार्य कर रहे ऐसे 29 लोगों को चिन्हित किया गया, जिन्होंने नौकरी के लिए इसी परीक्षा का प्रमाण पत्र लगाया था।

सूत्रों का कहना है कि सितंबर माह में एसटीएफ ने जांच रिपोर्ट पुलिस मुख्यालय को सौंपी और चालान भी पेश कर दिया। एसटीएफ द्वारा पेश चालान को पुख्ता सबूत माना गया है। एसटीएफ की रिपोर्ट के आधार पर पुलिस मुख्यालय ने सभी 29 पुलिसकर्मियों के निलंबन के आदेश जारी कर दिए हैं। इनमें से चार से पांच पुलिसकर्मी पुलिस मुख्यालय में पदस्थ हैं। बाकी प्रदेश के अन्य जिलों में कार्यरत हैं। पुलिस मुख्यालय के कर्मचारियों को निलंबन आदेश दे दिया गया है, जबकि जिलों में पदस्थ पुलिसकर्मियों के लिए संबंधित इकाइयों को आदेश भेजा गया है। स्थानीय स्तर पर यह आदेश तामील कराया जाएगा।

निलंबन के बाद शुरू होगी विभागीय जांच

जिन पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की गई है, वे कार्यपालिक (मिनिस्ट्रीयल)पदों पर कार्य कर रहे हैं। इनके निलंबन होने के बाद विभागीय जांच शुरू होगी। इस जांच में एसटीएफ द्वारा पेश चालान और वस्तुस्थिति को लेकर कर्मचारियों से उनका पक्ष जाना जाएगा। निलंबन आदेश में पुलिस की छवि धूमिल करने सहित फर्जी दस्तावेजों से संबंधित कारण बताए गए हैं। पुलिसकर्मियों के निलंबन आदेश जारी करने को लेकर आधिकारिक स्तर पर पुष्टि की गई है।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local