भोपाल। Nanhi Khushiyan मध्य प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन का कहना है कि हमारे आधुनिक समाज में आज बचपन जैसी कोई चीज नहीं बची है। किस्से कहानी से मिलने वाले ज्ञान, पारंपरिक खेल-कूद और प्रकृति से दूर होने के कारण बच्चों का सम्पूर्ण विकास नहीं हो पा रहा है। इस विसंगति का दूर करने की जरूरत है। राज्यपाल ने यह बात शनिवार को राजभवन में नवदुनिया के कार्यक्रम नन्ही खुशियां के तहत राजभवन पहुंचे अभावग्रस्त बच्चों से संवाद के दौरान कही। उन्होंने नवदुनिया के इस कार्यक्रम को सराहा और कुछ सुझाव भी दिए। इसके पूर्व नन्ही खुशियों का काफिला सुबह सीएम हाउस से शुरू हुआ, जहां मुख्यमंत्री कमलनाथ ने बच्चों से चर्चा कर उन्हें आशीर्वाद देते हुए सफर को फ्लैग ऑफ किया। सीएम हाउस से निकलकर बच्चे नवदुनिया टीम के साथ कई स्थानों पर घूमे और फिल्म देखी, हेल्थ चेकअप कराया और बड़े होटल में लंच करने के बाद राजभवन पहुंचे।

यहां उन्होंने राज्यपाल से संवाद किया, उनके साथ फोटो सेशन किया, चाय-नाश्ता किया और राजभवन का परिसर भी घूमा। इस दौरान राज्यपाल ने बच्चों को एक विशेष दिशानिर्देश पुस्तिका भी भेंट की। नवदुनिया के स्थानीय संपादक सुदेश गौड़ ने इस कार्यक्रम के उद्देश्य के बारे में जानकारी दी। यह एक्टिविटी पिछले चार सालों से संचालित है। इस अवसर पर नवदुनिया परिवार के ऋषि पांडे, मानवेंद्र द्विवेदी और गुरदयाल सिंह सहित अन्य सदस्य मौजूद थे।

सीएम ने दिया उपहार, बच्चे बोले थैंक्यू

मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मुख्यमंत्री निवास पहुंचे अभावग्रस्त बच्चों से मुलाकात में कहा कि खूब पढ़ो। अपनी सभ्यता, संस्कृति तथा संस्कार से जुड़े रहो और भारत के स्वतंत्रता संग्राम का इतिहास जानो। मुख्यमंत्री ने बच्चों को शॉल और उपहार भेंट किए। बच्चों ने खुश होकर मुख्यमंत्री को थैंक्यू कहा।

Posted By: Prashant Pandey