- शहीद भवन में नाटक 'लव एकतरफा' का मंचन

भोपाल। नवदुनिया रिपोर्टर

शहीद भवन में सोमवार की शाम नाटक 'लव एकतरफा'का मंचन हुआ। समांतर नाट्य समारोह-2 के तहत मंचित नाटक में युवाओं की समस्याएं और उनके रोजगार से जुड़े भावों को व्यक्त किया गया है। नाटक के जरिए युवाओं को समझाने का प्रयास किया गया कि बिना सोचे-समझे प्यार में न पड़ें। नाटक का लेखन सुनील सिंह ने किया और निर्देशन आदर्श शर्मा ने किया। युवा प्रेम को प्रदर्शित कहानी में दिखाया कि सिर्फ 20 से 30 प्रतिशत युवा ही पहले प्यार को पाने में कामयाब हो पाते हैं। दिल टूटने पर दर्द कैसा होता है, यह वहीं समझ सकता है जिसने प्रेम किया हो। जिंदगी की यह हार भी कई बार जीना सिखा देती है। यह नाटक की 6वीं प्रस्तुति रही।

अंत में चुना अपना परिवार

प्रस्तुति की शुरुआत ड्यूट डांस और संगीत प्रदर्शन से होती है। इसके बाद दिखाया जाता है कि आदित्य नाम का युवक को नशे की लत लग गई है। वो अपनी जिंदगी से परेशान होकर आत्महत्या करने की प्लानिंग करता है। कॉलेज टाइम में टॉपर रहने वाले आदित्य की दोस्ती क्लासमेट किट्टू से होती है। वह दोस्ती को प्यार समझ बैठता है। आदित्य के जीवन में किट्टू हाफ गर्लफ्रेंड जैसी होती है। आदित्य किट्टू से प्रेम का इजहार करता है और वह उसे ना कर देती है। नाटक के अंत में आदित्य एक हाथ में जहर लिया होता है और उसका एक मन कहता है कि जहर पीयो और एक मन कहता है न पीयो। अखिर में वह उस जहर को फेक करियर और अपनी फैमिली को चुनता है।