भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। सूचना प्रौद्योगिकी का उपयोग बहुत तेजी से बढ़ रहा है। विशेष मतदाता पुनरीक्षण कार्यक्रम में प्राप्त हुए 33 लाख 67 हजार आवेदनों में से 32 लाख 88 हजार आवेदन आनलाइन प्राप्त हुए हैं। प्रदेश के 52 जिलों में से 41 जिलों में महिलाओं का मतदाता पंजीकरण पुरुषों की तुलना में अधिक हुआ है। महिलाओं का मतदान के प्रति जागरूक होना प्रदेश के लिए शुभ संकेत है। भारत के पहले आम चुनाव वर्ष 1951 में हुए थे, तब प्रथम मतदाता के रूप में पंजीकृत 106 वर्षीय श्याम शरण नेगी ने दुनिया से विदा कहने से पहले अपने मत का उपयोग किया था। यह बात राज्यपाल मंगुभाई पटेल ने बुधवार को आयोजित 13वें राष्ट्रीय मतदाता दिवस कार्यक्रम के अवसर पर कही। कुशाभाऊ ठाकरे इंटरनेशनल कंवेंशन सेंटर में आयोजित राज्यस्तरीय कार्यक्रम में मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी अनुपम राजन, पूर्व केंद्रीय मुख्य निर्वाचन आयुक्त ओपी रावत, भोपाल संभागायुक्त माल सिंह, जिला निर्वाचन अधिकारी अविनाश लवानिया, निर्वाचन आयोग के प्रदेश आइकान राजीव वर्मा शामिल थे।

राज्यपाल मंगुभाई पटेल ने मतदाता दिवस पर वर्ष 1951-52 में हुए प्रथम आम चुनाव से लेकर वर्ष 2018-2019 में हुए निर्वाचनों में मतदाताओं एवं निर्वाचन प्रक्रिया में प्रयुक्त विभिन्न सामग्री के दुर्लभ चित्रों की प्रदर्शनी का शुभारंभ किया। कार्यक्रम के अंत में राज्यपाल ने सभी शैक्षणिक संस्थाओं के विद्यार्थियों और शासकीय अधिकारी एवं कर्मचारियों को मतदाता शपथ दिलाई।

मतदान कमजोर को भी ताकतवर के समान देता है मौका

राज्यपाल मंगुभाई पटेल ने कहा कि हम विश्व के सबसे बड़े लोकतंत्र के नागरिक है, हमको सत्यनिष्ठा के साथ मतदान प्रक्रिया में शामिल होना चाहिए। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने कहा था कि लोकतंत्र एक ऐसी पवित्र और कीमती चीज है जो कमजोर को भी ताकतवर के समान मौका देती है। इसका अधिकार हर वयस्क को मिलता है। वर्ष 2000 के आसपास या उसके बाद पैदा हुए युवा अब मतदाता सूची में शामिल हो रहे हैं। उनकी भागीदारी लोकतंत्र के भविष्य को मजबूत आकार देगी। 13वां राष्ट्रीय मतदाता दिवस 2023 की थीम वोट जैसा कुछ नहीं, वोट जरूर डालेंगे हम सभी को जागरूकत करेगी। कभी-कभी मतदान का वहिष्कार किया जाता है। इसे सुधार करना निर्वाचन आयोग के साथ ही राजनीतिक दलों की जिम्मेदारी है। आने वाले चुनाव में मतदान का प्रतिशत

100 प्रतिशत हो, हमको ऐसा प्रयास करना चाहिए।

राष्ट्रीय स्तर की प्रतिस्पर्धा में सात प्रतिभागी बने विजेता

भारत निर्वाचन आयोग द्वारा स्वीप गतिविधि के तहत राष्ट्रीय स्तर पर मतदाता जागरूकता को लेकर प्रतियोगिता कराई गई थी। निबंध, स्लोगन, गीत, पोस्टर सहित अन्य प्रतियोगिताएं हुई थीं। देशभर में मध्यप्रदेश के सात प्रतिभागी विजेता बने। राज्यपाल मंगुभाई पटेल द्वारा सुरेंद्र कुमार तिवारी को 15 हजार, कार्तिक त्रिवेदी को 30 हजार, विश्वास कुमार सोनी को 20 हजार, अवनि वर्मा को तीन हजार, ललित भाटी, पवन पंसारी, आरती दुके को दो-दो हजार रुपये की अवार्ड राशि से पुरस्कृत किया। भारत निर्वाचन आयोग द्वारा राष्ट्रीय मतदाता दिवस पर "मैं भारत हूं" गीत को लांच किया गया।

कलेक्‍टर, एसडीएम, तहसीलदार सहित बीएलओ हुए सम्मानित

मतदान प्रक्रिया, मतदान सूची पुनरीक्षण कार्यक्रम आदि में बेहतर काम करने के लिए एसडीएम बैरसिया आदित्य जैन, तहसीलदार हुजूर चंद्रशेखर श्रीवास्तव, तहसीलदार नरेला देवेंद्र चौधरी का राज्यपाल मंगुभाई पटेल ने प्रशस्ति पत्र, मोमेंटो प्रदान कर सम्मान किया। इसके अलावा उन्होंने कलेक्टर आलीराजपुर राघवेंद्र सिंह, विदिशा के उमाशंकर भार्गव, तत्कालीन कलेक्टर सीहोर चंद्रमोहन ठाकुर, बुरहानपुर कलेक्टर प्रवीण सिंह, डिंडोरी रत्नाकर झा, निवाड़ी तरूण भटनागर सहित अन्य उप जिला निर्वाचन अधिकारी, निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी, निर्वाचक पर्यवेक्षक और बूथ लेवल अधिकारियों को भी सम्मानित किया।

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close