भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। नवरात्र के तीसरे दिन बुधवार को मातारानी के मंदिरों व देवी पंडालों में भक्तों की देर रात तक कतारें लगी रहीं। बिट्टन मार्केट में नर्मदा परिक्रमा की झांकी, रोशनपुरा पर कुबेरेश्वर धाम, विजय मार्केट बरखेड़ा में चारों धाम की झांकियों के बाहर श्रद्धालुओं की भीड़ रही। वहीं जवाहर चौक काटजू अस्पताल के सामने वृदावंन के कलाकारों द्वारा आकर्षक नृत्य की प्रस्तुति दी गई। वहीं शहर के उपनगर कोलार सर्वधर्म बी सेक्टर में मां वैष्णो की मनमोहक छवि के साथ झांकी देखने लोग उमड़े।

नौ दिन तक प्रज्‍ज्‍वलित रहेगी दीपमाला

अयोध्या नगर पंचमुखी हुनमान व दुर्गा मंदिर में 111 दीपों से सुशोभित दीपमाला सजाई गई। यह दीपमाला नौ दिनों तक दिन प्रज्ज्वलित की जाएगी। समिति के संजय गुप्ता ने बताया कि इस दीपमाला में आमजन दीप जलाकर अपनी मनोकामना पूरी कर सकते हैं। जिसमें प्रत्येक व्यक्ति के एक दीप जलाने की राशि 3,100 रुपए है। नवरात्र के नौ दिनों के लिए बुकिंग हो चुकी है। इसके साथ ही आगामी दीपावली पर्व और देवउठनी एकादशी पर दीप प्रज्जवलन के लिए भी बुकिंग भी शुरू की जा चुकी है। इसके साथ ही अष्टमी के दिन महाआरती के साथ 56 भोग की झांकी भी सजाई जाएगी। इधर शहर की अलग-अलग कालोनियों के चौराहों व तिराहों पर सजी मातारानी की झांकियों में गरबा-डांडिया की प्रस्तुतियां देते हुए बच्चे दिखे। देवी जागरण के कार्यक्रम देर रात तक चलते रहे।

चूना भट्टी काली मंदिर : नवरात्र के तीसरे दिन चूनाभट्टी मां काली मंदिर में बड़ी संख्या में श्रद्धालु आए। महिलाओं ने छोटे बच्चों को मां काली का आशीर्वाद दिलाया। मां के चरणों में बच्चों को रखकर आशीर्वाद दिलवाया। सुबह छह से देर रात तक मां काली के दर्शन करने भक्तों की भीड़ लगी रही।

सात नंबर स्‍टाप : यहां पर मां काली की आकर्षक प्रतिमा विराजित की गई है। मां काली को राक्षस का वध करते हुए प्रतिमा में दिखाया गया है। मां काली के दर्शन करने शहर के अलग-अलग इलाकों से लोग आ रहे हैं। सुबह व शाम मां काली की आरती की जा रही है। प्रसादी का वितरण किया जा रहा है।

गिरनार हिल्स : अमरावत खुर्द में मातारानी की झांकी सजाई गई है। इसमें कालोनी के लोग बड़ी संख्या में शामिल हो रहे हैं। मातारानी शेर पर सवार हैं। सुबह-शाम मातारानी की आरती की जा रही है। नवरात्र तक रोजाना बच्चों के लिए गरबा व डांडिया महोत्सव भी रखा गया है। जिसमें बड़ी संख्या में बच्चे आ रहे हैं।

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close