भोपाल। नीमच जेल ब्रेक का राज एक मोबाइल ने खोला है जिसमें जेल से भागने के पहले एसएमएस से हुए संवाद का ब्योरा था। जेल ब्रेक में बंदियों की मदद करने में दो प्रहरी बृजेंद्र धाकड़ और ईश्वरप्रसाद की भूमिका सामने आई है। वहीं, जेल ब्रेक में फरार चार बंदियों को भागने में दो अन्य बंदियों ने भी मदद की लेकिन वे रस्से के सहारे दीवार को फांदने में कामयाब नहीं हो सके और भीतर ही रह गए।

सूत्रों के मुताबिक नीमच की जेल ब्रेक की घटना में एक मोबाइल का इस्तेमाल किया गया जो जिले के हिस्ट्रीशीटर बदमाश लेखराम का होना बताया जा रहा है। यह मोबाइल जेल कर्मचारियों की मदद से ही लेखराम तक पहुंचा था। हालांकि इस मोबाइल की जांच की जा रही है कि उसमें किसके नाम की सिम है और उसका उपयोग जेल में लेखराम कर रहा था या कोई दूसरा बंदी। लेखराम के साथ एनडीपीएस के मामले में जेल में बंद रहा जावद का विनोद धाकड़ कुछ दिन पहले पैरोल पर बाहर पहुंचा था। विनोद ने लेखराम से पैरोल पर छूटने के बाद 17 जून और 20 जून को दो बार जेल में मुलाकात भी की थी।

सूत्र बताते हैं कि जेल ब्रेक की घटना के पहले जेल के बाहर गाड़ी लेकर पहुंचने वाले विनोद के मोबाइल पर जेल के भीतर मोबाइल पर एसएमएस से संवाद भी हुआ। जेल के बाहर से रस्सा फेंकने और ढील देने के एसएमएस किए गए। विनोद को इसके आधार पर पुलिस ने हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है। यही नहीं एनडीपीएस के अपराध में बंद दो अन्य बंदियों पंकज धाकड़ व रामप्रसाद ने भी लेखराम, नाहरसिंह, दुबेलाल व पंकज को भागने में मदद की लेकिन वे किसी कारण से भाग नहीं सके।

प्रहरियों की सक्रियता से मदद के साक्ष्य

सूत्रों का कहना है कि जेल प्रहरी बृजेंद्र और ईश्वर प्रसाद घटना के पहले काफी सक्रिय रहे थे। उन्होंने घटना के पहले उस बैरक की तलाशी ली थी जिसमें लेखराम, नाहर सिंह, दुबेलाल व पंकज बंद थे। इसके बाद रात को 12 से अलसुबह चार बजे की ड्यूटी भी लगवा ली। घटना में बैरक की रॉड को काटने में प्रयुक्त फनर (ब्लेड) प्रहरी बृजेंद्र व ईश्वर प्रसाद को तलाशी में नहीं मिली। न ही मोबाइल तलाशी में मिला जबकि ये सभी सामग्री जेल ब्रेक में बंदियों ने प्रयुक्त की थी।

Posted By: Hemant Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस