भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। राजधानी भोपाल के उपनगर बैरागढ़ में शनिवार 23 जनवरी को संत हिरदाराम कॉलेज में एक अनूठा आयोजन हुआ। नेताजी सुभाषचंद्र बोस की जयंती पराक्रम दिवस के रूप में मनाई गई। इस अवसर पर कॉलेज में एक विशेष कार्यक्रम का आयोजन किया गया और छात्राओं को सेवा की प्रेरणा देने के उद्देश्य से कार्यक्रम के दौरान गरीबों को ऊनी वस्त्रों का वितरण किया गया।

'सेवा करने का सुख थीम' पर आयोजित कार्यक्रम में प्रमुख समाजसेवी हीरो ज्ञानचंदानी मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित थे अपने संबोधन में ज्ञानचंदानी ने कहा कि संत हिरदाराम जी हमेशा मानव सेवा पर जोर देते थे। संत जी कहते थे बच्चे, बूढ़े और बीमार हैं परमेश्वर के यार, करो सच्‍चे मन से इनकी सेवा पाओगे लोक-परलोक में सुख अपार। इसी संदेश के अनुरूप हम सबको गरीब एवं बुजुर्ग वर्ग की सेवा करना चाहिए। ज्ञानचंदानी ने कहा कि दान देने का सुख अलग ही होता है, यदि आप किसी को दान देते हैं और जरूरतमंद की सेवा करते हैं तो उसके मन से दुआ जरूर निकलती है। यह दुआएं आपका जीवन बदल सकती हैं। ज्ञानचंदानी ने नेताजी सुभाषचंद्र बोस के जीवन पर प्रकाश डालते हुए कहा कि युवाओं को नेताजी सुभाष चंद्र बोस से प्रेरणा लेना चाहिए।

योग को जीवन का हिस्सा बनाएं

इस मौके पर प्राचार्य डॉ डालिमा पारवानी ने कहा कि योग को जीवन का हिस्सा बनाएं। योग से ऊर्जा का संचार होता है, सकारात्मक ऊर्जा मिलती है इससे सफलता के द्वार खुल जाते हैं। इस अवसर पर राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई एवं ओल्ड गर्ल्स एसोसिएशन ने अपनी तरफ से चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों को ऊनी वस्त्र भी वितरित किए। कार्यक्रम में बड़ी संख्या में छात्राएं एवं प्राध्यापक उपस्थित थे।

Posted By: Ravindra Soni

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags