भोपाल। New Year 2020 इस बार एक जनवरी से शुरू होने वाले अंग्रेजी नववर्ष 2020 और 25 मार्च से शुरू होने वाला भारतीय नवसंवत्सर विक्रम संवत 2077 में इस वर्ष एक समानता और अनूठा संयोग देखने को मिल रहा है। इन दोनों की शुरुआत बुधवार के दिन से होगी। मां चामुंडा दरबार के पुजारी गुरु पं. रामजीवन दुबे ने बताया कि नवसंवत्सर में नौ ग्रहों के बीच बनने वाले मंत्रिमंडल में इस बार राजा बुध और मंत्री चंद्रमा रहेंगे। इस तरह पूरे वर्ष पर बुधदेव का आधिपत्य रहेगा। बुध कन्या राशि का स्वामी है।

अंग्रेजी नव वर्ष का शुभारंभ कन्या लग्न में ही होगा। इस लग्न पर भी बुध का अाधिपत्य है। यह राशि महिलाओं का प्रतिनिधित्व करती है, इसलिए पूरे वर्ष महिलाओं का प्रभाव बढ़ेगा। यह भी संयोग ही है कि अंग्रेजी नव वर्ष 1-1-2020 का कुल योग भी 6 है। दुबे ने बताया कि बुध के राजा रहते धर्म व अध्यात्म क्षेत्रों का विस्तार व लोगों का इसमें जुड़ाव बढ़ेगा, लेकिन राजनीतिक हालात संतोषजनक नहीं रहेंगे। रवि व सिद्धि योग भी इन दोनों दिनों की शुभता में बढ़ोत्तरी करने वाले होंगे।

कन्या राशि वालों के लिए लाभदायक

ज्योतिषाचार्य विनोद रावत ने बताया कि एक जनवरी को कन्या लग्न में साल शुरू होने से इस राशि वालों के लिए पूरा वर्ष अत्याधिक लाभदायक रहेगा। बुध का अधिपत्य रहने से विभिन्न क्षेत्रों में कार्यरत महिलाओं के सम्मान व प्रभाव में बढ़ोतरी होगी। बुध को नवग्रहों में राजकुमार का दर्जा है, इसलिए युवाओं को इस वर्ष रोजगार के अवसर मिलना शुरू होंगे। शतभिषा नक्षत्र में नया साल शुरू होने से पूरे वर्ष बुधवार के दिन कई अहम फैसले होते भी दिखाई दे सकते हैं।

किसानों के लिए भी शुभ

आगामी 25 मार्च को विक्रम नवसंवत्सर 2077 का शुभारंभ बुधवार को होगा। बुध का संबंध पर्यावरण से भी है, जिस कारण पर्यावरण के क्षेत्र में सुधार के प्रयासों में तेजी आएगी। पहले दिन कुंभ का चंद्रमा होने से कृषक परिवारों में धन-धान्य की आवक में बढ़ोतरी होगी। इसके पहले इस तरह का संयोग 2014 में भी हुआ था। 2020 में फिर ऐसा संयोग बन रहा है। इसके बाद 2022 में भी ऐसा संयोग बनेगा।

26 दिसंबर को कंकणाकृति सूर्य ग्रहण

ग्रहण का असर राशियों पर पड़ेगा। मेष- स्वास्थ्य में गिरावट, वृष- मानसिक कष्ट, मिथुन- कार्यों में विलंब, कर्क- संपत्ति लाभ, सिंह- खर्च बढ़ेंगे, कन्या- रोग कष्ट, तुला-भूमि लाभ, वृश्चिक- वाहन संभलकर चलाएं, धनु- हानि, मकर- कार्यों में बाधा, कुंभ- वाहन, भूमि लाभ, मीन- सुख, संतोष।

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket