भोपाल(नवदुनिया प्रतिनिधि)।

उद्योगपतियों के संगठन एफएमपीसीसीआइ भोपाल (फेडरेशन ऑफ मप्र चेंबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री) ने दवाओं के मामले में चीन से निर्भरता खत्म करने के लिए मध्यप्रदेश में बल्क ड्रग पार्क खोलने को लेकर जून में सरकार को प्रस्ताव दिया था, लेकिन उक्त प्रस्ताव पर अब तक कोई ठोस निर्णय नहीं लिया जा सका है। सरकार प्रस्ताव पर विचार करने की बात जरूर कह रही है। ड्रग पार्क बनने के बाद दवाओं का कच्चा माल चीन से नहीं मंगाना पड़ेगा। संगठन के अनुसार मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान से मिलेंगे और जल्द ही पार्क खोलने की मांग उठाएंगे।

प्रदेश की दवा निर्माण करने वाली कंपनियां एंटीबायोटिक समेत अन्य 50 से अधिक दवाओं में उपयोगी कच्चा माल चीन से खरीदती है, लेकिन भारत-चीन सीमा विवाद के बाद दवा निर्माता कंपनियां चीन से निर्भरता छोड़ना चाहती है। इसलिए वे प्रदेश में ही ड्रग पार्क स्थापित करने की मांग कर रही है। एफएमपीसीसीआइ के माध्यम से दवा निर्माताओं ने मुख्यमंत्री के सामने जून में प्रस्ताव भी रखा था। जिसमें देश में स्थापित होने वाले तीन ड्रग पार्क में से एक मप्र में स्थापित करने की मांग की गई थी। हालांकि, सरकार में फेरबदल और विधानसभा के उप चुनावों के चलते मामला आगे नहीं बढ़ा। सरकार के प्रतिनिधियों की तरफ से ड्रग पार्क को लेकर आश्वासन जरूर दिए गए हैं। ऐसे में उद्योगपति फिर से मुख्यमंत्री चौहान एवं सूक्ष्म, लघु व मध्यम उद्यम विभाग के मंत्री ओमप्रकाश सकलेचा से मिलकर प्रस्ताव को हरी झंडी देने की बात कहेंगे।

निर्भरता को खत्म होगी, साथ में कीमतें भी घटेंगी

एफएमपीसीसीआइ मप्र के अध्यक्ष डॉ. आरएस गोस्वामी ने बताया कि भारत सरकार देश में तीन बल्क ड्रग पार्क स्थापित कर रही है। इसमें से एक पार्क को मप्र में स्थापित करने की मांग की गई थी है। प्रस्ताव जून में ही सौंप चुके हैं। शुरुआती चर्चा में सरकार ड्रग पार्क को लेकर सहमति दे रही है। संगठन के माध्यम से हम चाहते हैं कि ड्रग पार्क जल्दी स्थापित हो। ताकि 50 से अधिक दवाओं में उपयोगी कच्चा माल यही बनाया जा सके। जिससे चीन से निर्भरता खत्म हो जाएगी और कंपनियों को कम कीमत पर कच्चा माल मिल सकेगा।

Posted By: Ravindra Soni

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस