भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। उत्‍तर से आ रही सर्द हवाओं ने पूरे मध्य प्रदेश में सिहरन बढ़ा दी है। बुधवार को ग्वालियर में प्रदेश में सबसे कम आठ डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया। राजधानी भोपाल में भी चौबीस घंटों में रात का तापमान तीन डिग्री सेल्‍सियस लुढ़क गया। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक 10 दिसंबर के बाद न्यूनतम तापमान में और गिरावट होगी। इस दौरान कहीं-कहीं शीतलहर भी चल सकती है।

मौसम विज्ञान केंद्र के मौसम विज्ञानी पीके साहा ने बताया कि बुधवार को राजधानी का अधिकतम तापमान 25.2 डिग्री सेल्‍सियस दर्ज किया गया। जो सामान्य से दो डिग्री सेल्‍सियस कम रहा। न्यूनतम तापमान 12.5 डिग्री सेल्‍सियस रिकार्ड किया गया। यह सामान्य से एक डिग्री सेल्‍सियस जरूर अधिक रहा, लेकिन मंगलवार के न्यूनतम तापमान (15.6 डिग्री सेल्‍सियस) की तुलना में 3.1 डिग्री सेल्‍सियस कम रहा। साहा ने बताया कि वर्तमान में हवा का रुख लगातार उत्तरी, उत्तर-पूर्वी बना हुआ है। हवाओं की रफ्तार भी 10-12 किलोमीटर प्रति घंटा बनी हुई है। इस वजह से दिन में भी सिहरन महसूस होने लगी है। उधर उत्तर भारत के पहाड़ी इलाकों में बर्फबारी होने से कड़ाके की ठंड पड़ रही है। इस वजह से वहां से आ रही सर्द हवाओं के कारण रात के तापमान में गिरावट होने लगी है। बुधवार को हिमालय क्षेत्र में एक पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय हुआ है। इसके असर से उत्तर भारत के पहाड़ी क्षेत्रों में गुरुवार, शुक्रवार को बारिश-बर्फबारी होने की संभावना है। शनिवार को पश्चिमी विक्षोभ के आगे बढ़ने के बाद न्यूनतम तापमान में तेजी से कमी आने की संभावना है। इस दौरान प्रदेश में कहीं-कहीं शीतलहर भी चल सकती है।

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local