भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। बिजली कंपनी है कि बिलों में गड़बड़ी करने से बाज नहीं आ रही है! लगातार ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्‍न सिंह तोमर की फटकार के बावजूद आए दिन बिलों में गड़बड़ी के मामले सामने आ रहे हैं। अब राजधानी के छोला क्षेत्र के सुंदर नगर में रहने वाले रहवासियों को हजारों रुपये के बिल दिए गए हैं। रहवासियों की नींद बिल की राशि देखकर गायब हो गई है। बिल दिसंबर 2020 के है।

छोला क्षेत्र के सुंदर नगर में दुर्गा बाई के घर 67,119 रुपये का बिल आया है। इससे दुर्गाबाई और उसका परिवार परेशान है। उनका कहना है कि उन्होंने पिछले महीने 9 दिसंबर को 288 रूपये का बिल जमा किया था। उसके बाद एक दम से 67119 रूपये का बिल आने सभी सकते में हैं। उन्होंने बिजली कंपनी को भी शिकायत कर दी है। अभी तक बिल में दी गई राशि को कम नहीं किया गया है। दुर्गाबाई का कहना है कि उनके घर में एक एलईडी टीवी है और बस तीन बल्ब जलाते हैं। इसके अलावा उनके घर में कोई बड़े उपकरण नहीं चल रहे हैं। तब भी हजारों का बिल दे दिया है।

दुर्गाबाई अकेली नहीं है, जिन्हें बिजली कंपनी ने हजारों रुपये का बिल दिया है। इसी मोहल्ले में राम विश्वकर्मा भी रहते हैं। वे मेहनत-मजदूरी करके गुजारा करते हैं। उनके घर का बिजली बिल 58 हजार रुपये आया है। वे और उनका परिवार बिल में यह राशि देखकर परेशान है और बिजली कंपनी के दफ्तर का चक्कर लगा रहा है। बिजली कंपनी के अधिकारियों का कहना है कि राशि अधिक क्यों आई है, इसका मिलान कर रहे हैं। जब मिलान हो जाएगा तो जो उचित कार्रवाई होगी। कुछ और लोगों के भी बिजली बिल खपत से ज्यादा आने की शिकायतें मिली है।

मंत्री ने भीमनगर पहुंचकर 13000 के बिल को कराया था 250 रूपये

गौरतलब है कि दिसंबर माह में वल्लभ भवन के सामने भीम नगर झुग्गी बस्ती में रहने वाली एक महिला ऊर्जा मंत्री तोमर के निवास पर पहुंची थी। उसकी शिकायत थी कि उसके घर का बिजली बिल 13000 रुपए आ गया है। मंत्री ने तुरंत बिजली कंपनी के सीटीजी जीएम अमृतपाल सिंह और अन्य अधिकारियों को तलब किया और महिला के घर पहुंचे। उसके घर में लगे बिजली उपकरणों की जांच पड़ताल करने के बाद पाया कि कंपनी ने महिला को अधिक बिल दे दिया था। मंत्री ने मौके पर 13000 रूपये के बिल को ढाई सौ रुपए करवाया था और उसी समय बिजली कंपनी के अधिकारियों को फटकार लगाते हुए कहा था कि अब यदि शहर में किसी भी उपभोक्ताओं का बिल अधिक आया तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी। बार-बार अधिक बिल देने से उपभोक्ताओं का मनोबल कमजोर होता है और वे कंपनी के चक्कर काटते हैं। यह बंद होना चाहिए।

मंत्री की फटकार को ज्यादा दिन नहीं हुए और इसी बीच दूसरे उपभोक्ताओं को हजारों रुपए के बिल जारी किए जा रहे हैं। छोला क्षेत्र के सुंदर नगर में जारी अधिक बिजली बिलों के संबंध में भानपुर जोन के मैनेजर अजय वाधवानी का कहना है कि जांच कराई जा रही है। जो सुधार उचित होगा, वह करेंगे।

Posted By: Ravindra Soni

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस