भोपाल (नवदुनिया रिपोर्टर) Bhopal Arts and culture news:। पद्श्री सम्मान प्राप्त पुरातत्ववेत्ता और चित्रकार विष्णुश्रीधर वाकणकर की आज 102वीं जयंती है। इस मौके पर रेखांकन ललित कला समिति की ओर से दो दिवसीय ऑनलाइन चित्र प्रदर्शनी का आयोजन किया जा रहा है। इस प्रदर्शनी के तहत दर्शक वाकणकर की 50 कलाकृतियों के साथ उनके 52 शिष्यों की कलाकृतियां समिति के फेसबुक पेज पर देख सकते हैं। चित्रकार अजय शुक्ला, रेखा भटनागर, गोंड कलाकार आत्माराम श्याम और पवन वर्मा ने भी अपना काम यहां प्रदर्शित किया है।

इस संदर्भ में रेखांकन ललित कला समिति की निदेशक और वाकणकर की शिष्या रेखा भटनागर ने बताया कि वाकणकर पुरातत्वविद् बनने से पहले एक कलाकार थे। इस वक्‍त लॉकडाउन के कारण सार्वजनिक तौर पर कोई भी कार्यक्रम आयोजित नहीं कर सकते, वहीं दर्शक भी आर्ट गैलरी तक नहीं पहुंच पाएंगे। इसलिए ऑनलाइन प्रदर्शनी के माध्यम से हम वाकणकर जी की जयंती मना रहे हैं।

उल्लेखनीय है कि वाकणकर ने भीमबेटका रॉक गुफाओं की खोज की थी। वर्ष 2003 में यूनेस्को ने भीमबेटका रॉक गुफाओं को विश्व धरोहर स्थल की सूची में शामिल किया है। गुफाएं भारत में मानव जीवन के शुरुआती निशानियों में से एक हैं।

Posted By: Ravindra Soni

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags