Padma Awards 2023: भोपाल। गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर पद्म पुरस्कार विजेताओं के नाम की घोषणा कर दी गई है। इसमें मध्य प्रदेश से चार नाम हैं। उमरिया जिले की जोधइया बाई को कला के लिए, जबलपुर के डाक्टर एमसी डावर को चिकित्सा में कार्य के लिए और रमेश व शांति परमार को कला के लिए पद्मश्री पुरस्कार से नवाजा गया है।

आखिरकार कला ने परमार दंपती को राष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलवा दी

झाबुआ (नईदुनिया प्रतिनिधि)। झाबुआ के दंपती रमेश-शांति परमार को पद्मश्री पुरस्कार के लिए चुना गया है। दोनों 30 वर्षों से आदिवासी गुड़िया बना रहे हैं। शांति बताती हैं कि जनजातीय परियोजना के तहत आदिवासी गुड़िया बनाने का प्रशिक्षण दिया जाता था। ससुर और अन्य स्वजन के सहयोग से उन्होंने यह विधा सीखी। बाद में यही विधा परिवार की आजीविका का साधन बन गई। अपनी कला को निखारने और उसे लगातार आगे बढ़ाने में ही पति-पत्नी लगे हुए हैं। रमेश का कहना हैं कि उन्हें सरकारी विभागों से मोबाइल पर पद्मश्री मिलने की सूचना मिली है। इसके बाद परिवार में छाई हुई है। News Updating...

Posted By: Prashant Pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close