भोपाल। (राज्य ब्यूरो)। त्योहार और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह की यात्रा को देखते हुए पुलिस हाइअलर्ट पर है। देश में पाकिस्तान की आतंकी साजिश का राजफाश होने के बाद से पुलिस अधिकारियों को अतिरिक्त सतर्कता बरतने के निर्देश दिए गए हैं।

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह 18 सितंबर को जबलपुर आ रहे हैं। वे यहां उज्जवला योजना के दूसरे चरण की शुरुआत करेंगे और हितग्राहियों से संवाद करेंगे। राजा शंकरशाह व कुंवर रघुनाथ शाह के बलिदान दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे।

अतिरिक्त सुरक्षा बरतने के निर्देश

उनकी यात्रा और त्योहारों को देखते हुए पुलिस मुख्यालय ने अधिकारियों को अतिरिक्त सुरक्षा बरतने के निर्देश दिए हैं। देश में पाकिस्तान की आतंकी साजिश का राजफाश होने के बाद अतिरिक्त सतर्कता बरती जा रही है। अधिकारियों को भीड़-भाड़ वाले स्थान, रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड और सार्वजनिक स्थानों पर चेकिंग का अभियान चलाने के लिए कहा गया है।

भारतीय प्रशासनिक सेवा के दो अधिकारियों की नवीन पद-स्थापना

राज्य शासन ने भारतीय प्रशासनिक सेवा के दो अधिकारियों की नवीन पद-स्थापना की है। मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत ग्वालियर किशोर कुमार कन्याल को आयुक्त नगर पालिक निगम ग्वालियर एवं अपर कलेक्टर जिला ग्वालियर आशीष तिवारी को मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत ग्वालियर पदस्थ किया

गया है।

अशोक सिंह को बनाया प्रदेश कांग्रेस का कोषाध्यक्ष

प्रदेश कांग्रेस के नए कोषाध्यक्ष अशोक सिंह होंगे। पारिवारिक कारणों से प्रकाश जैन ने कोषाध्यक्ष पद से इस्तीफा दिया था, जिसे प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमल नाथ ने स्वीकार करते हुए अशोक सिंह को जिम्मेदारी सौंपी है। जैन प्रदेश उपाध्यक्ष पद की जिम्मेदारी पहले की तरह निभाते रहेंगे।

जयदीप गोविंद को बनाया वाणिज्यिक कर अपील बोर्ड का अध्यक्ष

1984 बैच के आइएएस अधिकारी जयदीप गोविंद को प्रदेश सरकार ने वाणिज्यिक कर अपील बोर्ड का अध्यक्ष बनाया है। वे केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर थे और हाल ही में सेवानिवृत्त हुए हैं। उनके कार्यभार ग्रहण करने पर बोर्ड के स्थायी लेखा सदस्य मदनलाल संचेती अध्यक्ष के अतिरिक्त कार्यभार से मुक्त होंगे।

वाणिज्यिक कर विभाग ने बुधवार को जयदीप गोविंद का नियुक्ति आदेश जारी किया। उनका कार्यकाल पांच साल या 65 वर्ष की आयु, जो भी पहले हो रहेगा। उन्हें मकान, वाहन, यात्रा भत्ता, चिकित्सा सुविधा, अवकाश आदि की सुविधा वैसी ही प्राप्त होती रहेंगी, जैसी सेवानिवृत्ति के पहले प्राप्त हो रही रही थी। नियुक्ति पूर्णकालिक होने के कारण वे कोई व्यवसाय या अन्य कार्य नहीं कर सकेंगे।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local