भोपाल। (राज्य ब्यूरो)। भाजपा के साथ-साथ कांग्रेस ने भी वर्ष 2023 में होने वाले मध्य प्रदेश विधान सभा के चुनाव की तैयारियां प्रारंभ कर दी है। प्रदेश के 65 हजार से अधिक मतदान केंद्रों पर तीन लाख से ज्यादा युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को तैनात किया जाएगा। यह कार्य दो माह के भीतर पूरा करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इन सभी कार्यकर्ताओं को मतदान केंद्र के प्रबंधन का प्रशिक्षण भी दिलाया जाएगा।

प्रदेश के 230 विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र के लिए 65 हजार से ज्यादा मतदान केंद्र बनाए गए हैं। कांग्रेस का ध्यान अब सर्वाधिक मतदान केंद्रों के प्रबंधन पर है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमल नाथ ने पार्टी के सभी सहयोगी संगठन के प्रमुखों को निर्देश दिए हैं कि वे मतदान केंद्र इकाई को मजबूत करें। सभी अपनी-अपनी टीम बनाएं और उन्हें बाकायदा प्रशिक्षण भी दें क्योंकि हमारा मुकाबला भाजपा के नेताओं से नहीं बल्कि उनके संगठन से है।

दरअसल, भाजपा चुनाव के लिए सर्वाधिक ध्यान मतदान केंद्र के प्रबंधन पर ही देती है। इसके मद्देनजर युवा कांग्रेस को जिम्मेदारी दी गई है कि वो प्रत्येक मतदान केंद्र पर पांच कार्यकर्ताओं की तैनाती करे। इन्हें मतदाताओं से संपर्क अभियान चलाने के साथ पार्टी की गतिविधियों को बढ़ावा देने का काम दिया जाएगा।

युवा कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष डा.विक्रांत भूरिया ने बताया कि सभी जिला अध्यक्षों के साथ प्रदेश पदाधिकारियों को बता दिया गया है कि केंद्रीय संगठन की अपेक्षा है कि दो माह के भीतर मतदान केंद्र स्तर पर पांच-पांच कार्यकर्ताओं की तैनाती हो जाए। इनके मोबाइल नंबर लेकर वाटसएप ग्रुप बनाए जाएंगे ताकि प्रदेश स्तर से दिए जाने वाले दिशानिर्देश एक साथ सबको मिल जाएं। इन कार्यकर्ताओं को मतदान केंद्र के प्रबंधन का प्रशिक्षण केंद्रीय संगठन द्वारा विशेषज्ञों से दिलाया जाएगा।

लक्ष्य पूरा नहीं करने वाले पदाधिकारियों की होगी छुट्टी

संगठन ने तय किया है कि जो पदाधिकारी निर्धारित लक्ष्य की पूर्ति समयसीमा के भीतर में नहीं करेंगे, उन्हें पद से हटा दिया जाएगा। इसके लिए पिछले दिनों प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में आयोजित हुई प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में राष्ट्रीय अध्यक्ष वीबी श्रीनिवास ने स्पष्ट निर्देश भी दिए हैं। साथ ही कहा है कि प्रतिमाह जिला इकाइयों के प्रदर्शन की समीक्षा भी की जाए।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local