भोपाल (राज्य ब्यूरो)। राष्ट्रपति पद के लिए विपक्ष के उम्मीदवार यशवंत सिन्हा 14 जुलाई को भोपाल आएंगे। वे यहां कांग्रेस के सांसद और विधायकों के साथ बैठक करेंगे। इसके लिए कांग्रेस ने प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में विधायक दल की बैठक बुलाई है। इसमें सभी विधायकों को अनिवार्य रूप से उपस्थित रहने के निर्देश दिए गए हैं।

राष्ट्रपति चुनाव के लिए मतदान 18 जुलाई को होना है। भोपाल स्थित विधानसभा भवन के समिति कक्ष में मतदान होगा। इसमें भाजपा के 127, कांग्रेस के 96, बसपा के दो, सपा के एक और चार निर्दलीय विधायक हिस्सा लेंगे।

बसपा के संजीव सिंह, सपा के राजेश शुक्ला और निर्दलीय विधायक विक्रम सिंह राणा भाजपा में शामिल होने की घोषणा कर चुके हैं। दलीय स्थिति के अनुसार भाजपा के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन की प्रत्याशी द्रौपदी मुर्मू को प्रदेश से अधिक मत प्राप्त होंगे। सूत्रों के मुताबिक प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में होने वाली बैठक में सिन्हा अपने लिए सांसद और विधायकों से समर्थन मांगेंगे। हालांकि, बड़वाह से विधायक सचिन बिरला को लेकर स्थिति स्पष्ट नहीं है कि वे बैठक में आएंगे या नहीं।

दरअसल, खंडवा लोकसभा के उपचुनाव के समय वे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की उपस्थिति में भाजपा में शामिल होने की घोषणा कर चुके हैं। उनकी सदस्यता समाप्त करने को लेकर कांग्रेस दो बार विधानसभा अध्यक्ष गिरीश गौतम को आवेदन दे चुकी है और दोनों ही बार यह तकनीकी आधार पर निरस्त हो चुका है। इधर, विधायक नारायण त्रिपाठी को लेकर भाजपा संशय में हैं। त्रिपाठी लगातार भाजपा से दूरी बनाए हुए हैं।

रामबाई को लेकर स्थिति स्पष्ट नहीं

सूत्रों का कहना है कि बसपा विधायक संजीव सिंह कुशवाहा के भाजपा में शामिल होने के बाद यह तय है कि वे द्रौपदी मुर्मू के पक्ष में मतदान करेंगे। हालांकि, विधायक रामबाई को लेकर स्थिति स्पष्ट नहीं है। उन्होंने अभी तक अपने पत्ते नहीं खोले हैं। वहीं, प्रदेश के सभी विधायक 18 जुलाई को मध्य प्रदेश विधानसभा भवन स्थित मतदान केंद्र पर मतदान करेंगे।

ऐसी है मध्य प्रदेश में दलीय स्थिति

कुल लोकसभा सीटें-29

भाजपा- 28

कांग्रेस- 01

कुल राज्यसभा सीटें- 11

भाजपा- 08

कांग्रेेस- 03

कुल विधानसभा सीटें- 230

भाजपा- 127

कांग्रेस- 96

बसपा- 02

सपा- 01

निर्दलीय- 04

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close