भोपाल नवदुनिया प्रतिनिधि। सीएम राइज स्कूलों की महत्वाकांक्षी योजना को जिला कलेक्टरों ने चुनाव ड्यूटी में लगा दिया है। इन स्कूलों के अधिग्रहण और शिक्षकों व प्राचार्यों की ड्यूटी ना लगाने के लिए स्कूल शिक्षा विभाग की प्रमुख सचिव रश्मि अरूण शमी ने सभी जिले के कलेक्टरों को लिखे गए पत्र भी काम नहीं आया। प्रमुख सचिव स्कूल शिक्षा रश्मि शमी की के मना करने के बाद भी सीएम राइज स्कूलों को चुनाव के लिए मतदान केंद्र बना दिया है। इन स्कूलों के शिक्षकों व प्राचार्यों की ड्यूटी भी चुनाव में लगा दी गई है। हालात यह है कि जिले में एक्सीलेंस स्कूल से लेकर सीएम राइज स्कूलों को लगभग पूरा अधिग्रहित कर लिया है। दरअसल, प्रदेश में पौने तीन सौ सीएम राइज स्कूलों की शुरुआत 16 जून से हुई है। राजधानी में शासकीय बालक बैरसिया, हाईस्कूल बर्रई, गल्र्स कमला नेहरू, गल्र्स गोविंदपुरा, हायर सेकेंडरी स्कूल महात्मा गांधी, हायर सेकेंडरी स्कूल निशातपुरा व गल्र्स बरखेड़ी जहांगीराबाद का चयन किया गया है। सीएम राइज स्कूलों की पढ़ाई को लेकर प्रमुख सचिव स्कूल शिक्षा रश्मि शमी ने दो बार जिला कलेक्टरों को पत्र लिखा। सीएम राइज स्कूलों को लेकर प्रमुख सचिव व्यक्तिगत रूप से जिला कलेक्टरों को फोन भी किए। इसमें कहा गया कि सीएम राइज स्कूलों को मतदान केंद्र नहीं बनाया जाए। साथ ही इन स्कूलों के अमले को चुनावी कार्य से मुक्त रखा जाए। इसके बावजूद इसके जिला कलेक्टरों ने सभी शिक्षकों की ड्यूटी लगा दी गई है। राजधानी में ही सभी सीएम राइज स्कूलों को चुनाव के लिए मतदान केंद्र बना दिया गया है। इन स्कूलों के अमले की ड्यूटी भी चुनाव में लगा दी गई है। राजधानी के साथ ही प्रदेश के लगभग सभी जिलों में सीएम राइज स्कूलों को मतदान केंद्र बनाकर उनके अमले की चुनाव कार्य में ड्यूटी लगाई गई है।

सभी जिले के उत्कृष्ट विद्यालय चुनाव के लिए अधिग्रहित

सभी जिले में एक्सीलेंस स्कूल को चुनाव के लिए अधिग्रहित कर लिया गया। स्कूल में हालात यह है कि कई दिनों से यहां के बच्चों की पढ़ाई पूरी तरह बंद हो गई है। इसे लेकर उत्कृष्ट विद्यालयों के प्राचार्य ने आयुक्त लोक शिक्षण को पत्र लिख दिया। जिसमें कहा गया है कि बीते तीन साल से (विस उप निर्वाचन, लोकसभा उप निर्वाचन व पंचायत व नगरीय निकाय चुनाव) के कारण स्कूल को अधिग्रहित कर लिया जाता है। जिससे स्कूल में बच्चों की पढ़ाई नहीं हो पाती है। स्कूल के कमरों को लोक सेवा गारंटी को लिए भी रख रखा है। ऐसे में प्रतिभाशाली बच्चे स्कूल में नहीं पढ़ पा रहे है।

प्रमुख सचिव ने यह लिखा था पत्र

प्रमुख सचिव के जारी पत्र में कहा गया कि नगरीय निकाय चुनाव को लेकर प्रदेश में तैयारियां शुरू हो गई है। स्थानीय चुनाव में शिक्षकों की ड्यूटी लगाई जाती है। दूसरी तरफ आगामी 16 जून से प्रदेश भर में नवीन शैक्षणिक सत्र शुरू हो रहा है। इसी के साथ प्रदेश में सीएम राइज स्कूलों की शुरुआत होगी। शिक्षकों की ड्यूटी लगाने से बच्चों की पढ़ाई प्रभावित होगी। सीएम राइज योजना के तहत प्रथम चरण में स्कूल शिक्षा विभाग के अंतर्गत 275 स्कूल चयनित किए गए है। चयनित सीएम राइज स्कूलों को नवीन शैक्षणिक सत्र में आवश्यक साज-सज्जा एवं तैयारी उपरांत प्रारंभ किया जाना है। यह प्रयास किया जाना है कि आगामी तीन माह में विद्यालयों के लर्निंग लेबल में एक स्पष्ट सकारात्मक परिवर्तन हो। ऐसी स्थिति में यह सुनिश्चित किया जाना आवश्यक होगा कि इन विद्यालयों में पठन-पाठन की प्रक्रिया किसी भी प्रकार से बाधित न हो। अत: चयनित सीएम राइज स्कूलों पदस्थ अमले एवं भवन को समस्त प्रकार के गैर शैक्षणिक कार्यों से मुक्त रखने के संबंध में सर्व संबंधियों को निर्देशित करना सुनिश्चत करें।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close