भोपाल। कमलनाथ सरकार अब निजी मदरसों में भी मध्या- भोजन देगी। इसके लिए स्कूल शिक्षा विभाग सोमवार को मुख्यमंत्री कमलनाथ की अध्यक्षता में होने वाली कैबिनेट में प्रस्ताव लाएगा। सहमति बनने पर पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग इसकी व्यवस्था बनाएगा।

अभी प्रदेश के एक लाख 13 हजार स्कूलों के 45 लाख से ज्यादा बच्चों को मध्यान्ह भोजन योजना का लाभ दिया जा रहा है। सूत्रों के मुताबिक प्रदेश में लगभग साढ़े पांच हजार अनुदान प्राप्त व गैर अनुदान प्राप्त मदरसे हैं।

अभी अनुदान प्राप्त मदरसों में मध्यान्ह भोजन की सुविधा दी जा रही है। इसका विस्तार निजी मदरसों में भी किए जाने का प्रस्ताव स्कूल शिक्षा विभाग ने तैयार किया है। इसके अलावा कैबिनेट में एक दर्जन अन्य प्रस्तावों पर भी विचार किया जाएगा। कैबिनेट बैठक के बाद मुख्यमंत्री कमलनाथ उज्जैन में महाकाल के दर्शन करने के लिए जाएंगे।