भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। भोपाल रेल मंडल के 405 रेलकर्मियों को शुक्रवार उत्कृष्ट सेवा पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। इन रेल कर्मियों ने रेलवे को संभावित रेल हादसों से बचाया है और लाखों रेल यात्रियों की जानमाल की सुरक्षा की है। इनका सम्मान डीआरएम सौरभ बंदोपाध्याय द्वारा किया किया गया। यह समारोह शुक्रवार को रेलवे भर्ती बोर्ड के कार्यालय के पास पूर्वी रेलवे कालोनी भोपाल में किया था, जो शाम पांच बजे तक चला। इसमें 249 रेलकर्मियों को व्यक्तिगत पुरस्कार दिए गए। 156 को समूह पुरस्कार से नवाजा गया है। इस तरह 405 रेलकर्मियों को सम्मानित किया गया। यह सम्मान 67वें रेल सप्ताह समारोह के तहत किया गया।

रेलकर्मी इसलिए किए गए सम्मानित

- तेज गति में दौड़ने वाली ट्रेनों के टूटे व क्रैक उपकरणों की पहचान कर ट्रेनों को रुकवाया। यह बहुत सावधानी व सतर्क रहकर किए जाने वाला काम होता है, जो कि कई रेलकर्मियों द्वारा अपने-अपने रेलखंडों में कर दिखाया था।

- गर्मी के दिनों में ट्रेनों के पहिये में घर्षण के कारण चिंगारी निकलती है, जिसे रेलकर्मियों ने प्राथमिक स्तर पर ही पकड़ लिया था और ट्रेनों में आग लगने जैसी गंभीर घटनाएं नहीं हुई।

- तकनीकी खराबी के चलते जिन सिग्नलों को ट्रेनों को ठहरने के संकेत देने थे वे सिग्नल थ्रू थे। तब भी ड्राइवर व ट्रेन मैनेजरों ने सतर्कता दिखाई और ट्रेनों को रोक दिया। इस तरह संभावित हादसे टल गए।

- ट्रेनों के पटरी से उतरने व ओएचई के टूटने पर विषम परिस्थितियों के बावजूद कम समय में सुधार किया। इसके अलावा अपने-अपने स्थल पर उत्कृष्ट काम किए हैं।

समारोह में ये भी रहे मौजूद

इस मौके पर महिला कल्याण संगठन की अध्यक्ष वनश्री बंदोपाध्याय, एडीआरएम रश्मि दिवाकर, वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक प्रियंका दीक्षित, वरिष्ठ मंडल सुरक्षा आयुक्त बी रामकृष्णा, वरिष्ठ मंडल इंजीनियर अतिन कुमार तोमर, वरिष्ठ मंडल कार्मिक अधिकारी अजय कुमार दीक्षित व रेल अधिकारी, कर्मचारी समेत उनके स्वजन शामिल थे।

Posted By: Lalit Katariya

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close