भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। रेलवे ने कोरोना काल में ट्रेन के सामान्य श्रेणी के कोचों में लगाई आरक्षण कराने की बंदिश हटा ली है। इसके बाद सामान्य श्रेणी के टिकटों की बिक्री बढ़ने लगी है। यह बदलाव बीते एक हफ्ते में देखने को मिला है। इसका फायदा रेलवे को तो हुआ ही है, आम यात्रियों को भी हो रहा है। अब वे तुरंत टिकट लेकर आसानी से सफर करने लगे हैं। भोपाल रेल मंडल में 25 जून तक एक दिन में 29 हजार सामान्य टिकट बिकते थे, जो 30 जून को 34 हजार बिके हैं। रेलवे के राजस्व में भी बढ़ोतरी हो रही है। रेलवे ने 29 जून से ट्रेनों के सामान्य कोच से आरक्षण की बंदिश हटाने की शुरूआत की थी, एक जुलाई तक सभी ट्रेनों से ये बंदिश हटा ली गई है।

ऐसे बढ़ रही दो प्रमुख स्टेशनों व भोपाल रेल मंडल में सामान्य टिकटों की बिक्री

जून—————भोपाल स्‍टेशन टिकट/राजस्व————आरकेएमपी टिकट/राजस्व————भोपाल मंडल टिकट/राजस्व

25 जून———7327/634085———————1635/145140———————29381/1899845

26 जून———6753/620380———————1440/132625———————27493/1904035

27 जून———7238/612280———————2670/169650———————39808/2203880

28 जून———7090/650160———————1721/153350———————30187/1888825

29 जून———6514/602205———————1978/175565———————25190/1651145

30 जून———9271/948470———————3009/305690———————33389/2465965

कुल———44193/4067580———————12454/1082020———————185448/12013695

नोट:— उक्‍त जानकारी भोपाल रेल मंडल के अनुसार है।

यहां से लें सामान्य श्रेणी के टिकट

— रेलवे स्टेशन पर हो तो वहां के टिकट काउंटरों, आटोमेटिक टिकट वेडिंग मशीन से खरीद सकते हैं।

— स्टेशन पर नहीं हैं और बाहर से टिकट खरीदना है तो आइआरसीटीसी के मोबाइल यूटीएस एप से भी खरीद सकते हैं।

इन बातों का रखें ध्यान

जिस ट्रेन में सफर करना है, उसका नाम बताएं और फिर टिकट खरीदें। कई बार सुपरफास्ट श्रेणी के सामान्य कोच में बैठ जाते हैं और टिकट साधारण एक्सप्रेस ट्रेन का होता है तो परेशानी होती है। ट्रेन में जांच के दौरान रेल कर्मचारी द्वारा जुर्माना लगाया जा सकता है।

यहां करें शिकायत

रेल टिकट से जुड़ी कोई परेशानी या शिकायत हो तो रेल सुविधा नंबर 139 पर शिकायत दर्ज कराई जा सकती है। रेलवे स्टेशन में स्टेशन प्रबंधक व डिप्टी स्टेशन प्रबंधक के कक्ष में शिकायत पुस्तिका होती है, उसमें भी शिकायत दर्ज कराई जा सकती है।

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close