भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। शहर में पिछले दो दिन से लगातार हो रही वर्षा के कारण हालात बिगड़ गए हैं जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। शहर की निचली बस्तियों में जलभराव की स्थिति बन गई है लोगों के घरों में पानी भर गया है, जिससे उनका रहना मुश्किल हो गया है। वही कुछ क्षेत्रों में 24 घंटे से बिजली भी नहीं है, इस वजह से लोगों को रात भर अंधेरे में ही रहना पड़ा। इसके अलावा शहर के आसपास ग्रामीण इलाकों में भी हालात बिगड़ गए हैं, हलाली नदी का पानी ईटखेड़ी स्थित स्कूल में भर गया है। मौसम विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक बीते 24 घंटों के दौरान शहर में 05 इंच पानी बरसा है। मंगलवार को भी सुबह से ही रुक-रुककर वर्षा का सिलसिला जारी है। अतिवर्षा को देखते हुए कलेक्टर अविनाश लवानिया ने शहर के सभी शासकीय व अशासकीय विद्यालयों में मंगलवार को अवकाश घोषित कर दिया है। तेज बारिश के कारण शहर के तमाम जलाशय पानी से लबालब हो चुके हैं। लगातार बारिश से सोमवार को भदभदा के 11, कलियासोत के 13 गेट खोल दिए गए। इसके अलावा मंगलवार को कोलार डैम से भी पानी छोड़ा जा रहा है। इसके चार गेट खोले गए हैं।

शहर के इन इलाकों में बिगड़े हालात

शहर के छोला रोड, सिंधी कालोनी, सेफिया कालेज रोड सभी जगह वर्षा के पानी से लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। सेमरा, करोंद, सिंधी कालोनी , अल्पना तिराहा, भोपाल टाकीज, शाहजहांनाबाद, कोलार की कई कालोनियां, गोविंदपुरा इंडस्ट्रियल एरिया की कई फैक्ट्रियां, कोलुआ, दाम खेड़ा, जहांगीराबाद, इतवारा, हमीदिया रोड, निशातपुरा, एयरपोर्ट रोड और बाणगंगा समेत कई इलाकों में बारिश के पानी ने मुसीबत बढ़ा दी है।

क्‍यों हो रही भारी वर्षा

मौसम विज्ञान केंद्र के पूर्व वरिष्ठ मौसम विज्ञानी अजय शुक्ला ने बताया कि वर्तमान में एक अवदाब का क्षेत्र गुना और उसके आसपास बना हुआ है। इसके अलावा मानसून ट्रफ जैसलमेर, कोटा से अवदाब के क्षेत्र से होते हुए पेंड्रा रोड, ओडिशा से बंगाल की खाड़ी तक बना हुआ है। इन दो मौसम प्रणालियों के असर से बंगाल की खाड़ी एवं अरब सागर से लगातार नमी मिल रही है। इस वजह से लगातार वर्षा हो रही है। मंगलवार शाम तक अवदाब के कमजोर पड़कर कम दबाव के क्षेत्र में तब्‍दील होने के आसार हैं। इससे भारी बारिश से कुछ राहत मिल सकती है।

यहां हो सकती है भारी वर्षा

शुक्ला ने बताया कि राजधानी में रूक-रूक कर हल्की बौछारें पड़ सकती हैं, लेकिन उज्जैन, भोपाल, इंदौर, ग्वालियर, चंबल संभागों के जिलोें में 24 घंटों के दौरान कहीं-कहीं भारी वर्षा होने की संभावना बनी हुई है।

भोपाल जिले में अब तक 1110.2 मिमी औसत वर्षा दर्ज

भोपाल जिले में मंगलवार को प्रात: 8:30 बजे की स्थिति को मिलाकर अब तक 1110.2 मिमी औसत वर्षा दर्ज की गई। भोपाल जिले की औसत वर्षा 1052.9 मिलीमीटर है। अधीक्षक भू-अभिलेख ने बताया कि 16 अगस्त को बैरागढ़ में 123.7 मिमी बैरसिया में 110.1 मिमी तथा कोलार क्षेत्र में 125.6 मिमी वर्षा दर्ज की गई है।

जिले में 1 जून से 16 अगस्त 2022 तक 1110.2 मिमी औसत वर्षा दर्ज की जा चुकी है। अब तक बैरागढ़ में 1274.9 मिमी, बैरसिया में 939.8 तथा कोलार में 1116.1 मिमी औसत वर्षा दर्ज की जा चुकी है।

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close