Rain in Madhya Pradesh: विदिशा/ रायसेन/ छिंदवाड़ा (नवदुनिया प्रतिनिधि)। विदिशा जिले की ग्यारसपुर तहसील के ग्राम धामनोद, कोलुआ, बेहलोट, गुन्नाौठा, खिरिया, दासीपुर, पोतला और हैदरगढ़ सहित कुछ अन्य गांवों में सोमवार की दोपहर को आंधी के साथ जोरदार बारिश हुई। इस दौरान करीब आधा घंटे तक आंवले से बड़े आकार के ओले गिरे। जिसके चलते खेतों और सड़कों पर बर्फ की चादर जम गई। इन गांवों में समर्थन मूल्य के गेहूं खरीदी केंद्रों पर लगभग 10 हजार क्विंटल गेहूं भीग गया। तेज आंधी के कारण घरों और गोदामों के छप्पर उड़ गए। वहीं सड़कों के किनारे खड़े पेड़ और बिजली के खंभे धराशायी हो गए।

रायसेन जिले में भी बारिश और चने के आकार के ओले गिरने से बेगमगंज क्षेत्र के 9 खरीदी केंद्रों में लगभग 34 हजार क्विंटल गेहूं भीग गया है। रविवार देर रात को छिंदवाड़ा के अमरवाड़ा क्षेत्र में हुई बारिश से खरीदी केंद्रों में पानी भर गया था, जिससे गेहूं की फसल भीग गई।

विदिशा जिले में पिछले दो दिनों से मौसम बिगड़ा हुआ है। रविवार की रात को भी विदिशा, लटेरी, आनंदपुर और गंजबासौदा सहित क्षेत्र में बारिश हुई थी। सोमवार को दोपहर 3 से 4 बजे तक ग्यारसपुर के हैदरगढ़ क्षेत्र में आंधी चलने के साथ ही तेज बारिश हुई। बारिश के साथ ही 50 ग्राम से अधिक वजन के ओले भी गिरे। ओलावृष्टि का सबसे अधिक असर ग्राम धामनोद, कोलुआ और गुन्नाौठा और बेहलोट में देखने को मिला। यहां के ग्रामीणों ने बताया कि घरों के बाहर और सड़कों पर ओले की मोटी चादर जम गई थी। खेतों में भी जमीन पर सफेद चादर जैसा दिखाई दे रहा था।

केंद्रों पर भीगा हजारों क्विंटल गेहूं

धामनोद सहकारी समिति प्रबंधक नारायण प्रसाद शर्मा ने बताया कि बारिश के कारण खुले में रखा लगभग 3028 क्विंटल गेहूं भीग गया है। इधर, कोलुआ के समिति प्रबंधक प्रकाश यादव ने बताया कि उनके खरीदी केंद्र पर करीब सौ क्विंटल गेहूं भीगा है। वहीं गुन्नाौठा में लगभग 3 हजार क्विंटल गेहूं पानी में भीगा है। उन्होंने बताया कि कोलुआ में एक निजी वेयर हाउस में करीब 15 हजार क्विंटल गेहूं रखा हुआ है। आंधी में गोदाम के चद्दर उड़ जाने के कारण पानी भीतर पहुंच गया। जिसकी वजह से बड़ी मात्रा में गेहूं भीगा है।

रायसेन में 34 हजार क्विंटल गेहूं भीगा

रायसेन जिले के बेगमगंज क्षेत्र में रविवार और सोमवार को हुई बारिश से 9 खरीदी केंद्रों में रखा करीब 34 हजार क्विंटल गेहूं भीग गया। सोमवार को बेगमगंज सहित अन्य क्षेत्रों में भी बारिश के साथ ही ओलावृष्टि हुई, जिससे खुले रखे गेहूं को नुकसान हुआ है।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags