Rain in Madhya Pradesh : मालवा-निमाड़ (नईदुनिया टीम)। अंचल में गुरुवार रात और शुक्रवार को आंधी-बारिश से नुकसान हुआ है। धार के 10 से अधिक गांवों में छत के कवेलू उड़ गए और पेड़ भी गिरे हैं। धार के नालछा ब्लॉक में सर्वाधिक नुकसान नरसिंह माल, कुराडिया, गोलपुरा और गामदा क्षेत्र हुआ है। यहां 80% लोगों के घरों के छत के टीन शेड और कवेलू उड़ गए। मकानों की दीवारें गिर गईं। बिजली के 100 से अधिक खंभे गिरने से बगड़ी व क्षेत्र में विद्युत आपूर्ति ठप रही। धार व बदनावर में भी शुक्रवार को आंधी से जनजीवन पर असर हुआ है।

झाबुआः चार पेड़ गिरे, रास्ता जाम

झाबुआ जिले के पेटलावद, करवड़, करड़ावद और जामली में शुक्रवार को जोरदार बारिश हुई। बामनिया में रतलाम-झाबुआ मार्ग पर चार पेड़ गिरने से कुछ देर के लिए आवागमन अवरुद्ध हुआ।

बुरहानपुरः के ले के हजारों पेड़ धराशायी

बुरहानपुर जिले में आंधी से मकानों के टीनशेड उड़े, वहीं शुक्रवार को सुबह रिमझिम बारिश हुई। लगातार दो दिनों से जारी आंधी-बारिश से के ले के खेतों में खासा नुकसान हुआ है।केले के हजारों पेड़ धराशायी हो गए हैं। 15 से अधिक गांवों के कि सानों को नुकसान हुआ है।

रतलामः बिजली गुल, मकान क्षतिग्रस्त

रतलाम जिले में लगातार चौथे दिन शुक्रवार शाम 4 बजे झमाझम बारिश हुई। इससे चारों तरफ पानी ही पानी हो गया। इस दौरान कई क्षेत्रों में बिजली भी गुल रही। कई जगह पेड़ धराशायी हो गए, कच्चे-पक्के मकान भी क्षतिग्रस्त हुए।

ओंकारेश्वर में जलस्तर बढ़ने से नर्मदा में डूबी 25 नावें

खंडवा : ओंकारेश्वर में नर्मदा नदी का जलस्तर गुरुवार रात अचानक बढ़ने 25 से अधिक नावें डूब गईं। यह स्थिति बारिश होने के साथ ही बिजली उत्पादन के लिए इंदिरासागर और ओंकारेश्वर बांधों पर टरबाइनों से पानी छोड़ने के कारण बनी। नाविकों को गहरे पानी से नावें निकालने में परेशानी हुई।

तेज बहाव के कारण कई नावें दो टुकड़ों में बंटने के साथ ही इंजन, पटिए और छतें गायब हो गईं। इससे नाविकों को आर्थिक नुकसान हुआ है।

बता दें कि प्रशासन ने कोरोना संक्रमण को देखते हुए ओंकारेश्वर में नर्मदा स्नान और मंदिरों में दर्शन पर प्रतिबंध लगा रखा है। इससे करीब ढाई सौ नावों का संचालन भी बंद है। 24 घंटे में 40.8 मिमी वर्षा दर्ज की गई है।

उज्जैन : शहर में शुक्रवार दोपहर आधे शहर में करीब एक घंटा तेज बारिश हुई। इसके बाद शाम को मौसम बदला और शहर में आंधी के साथ बरसात होने लगी। तहसीलों में भी बारिश का दौर जारी है। चौबीस घंटों में जिले में 3.4 मिमी बारिश हुई है।

देवास : शहर में आधा घंटा झमाझम पानी बारिश हुई। सड़कों पर जलजमाव होने से वाहन चालकों और राहगीरों को परेशानियों का सामना करना पड़ा। शहर के कुछ क्षेत्रों में बिजली गुल हो गई।

उमरिया में बारिश, बालाघाट में बिजली गिरने से एक की मौत

उमरिया/बालाघाट । उमरिया में शुक्रवार दोपहर कुछ देर के लिए बारिश हुई जिससे उमस बढ़ गई। वहीं बालाघाट के लांजी थाना अंतर्गत सुलसुली पुलिस चौकी के कोड़पा नेवरवाही में आकाशीय बिजली गिरने से सुरेश (14) पुत्र नरेश पंचेश्वर की मौके पर मौत हो गई, जबकि टीकाराम (13) पुत्र दीनाराम पंचेश्वर झुलस गया।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस