- बिजली व्यवस्था को लेकर बंद कमरे में अफसरों से वन-टू-वन बात कर रहे थे ऊर्जा मंत्री प्रियव्रत सिंह

- कहा- स्थानीय लोगों को विश्वास में लेकर मेंटेनेंस के लिए बंद करें बिजली

भोपाल। नवदुनिया प्रतिनिधि

आप लोग बिजली बंद कर देते हो और लोग फोन करके मेरी ऐसी-तैसी करते हैं। ये क्या तरीका है, आप संभाल नहीं पा रहे हो। आगे से बिजली बंद करने से पहले स्थानीय लोगों को जानकारी दें और उन्हें भरोसे में लेकर ही बिजली बंद करना। ताकि वे मानसिक रूप से तैयार रहें। आप लोग ठीक से व्यवस्था नहीं कर पाते और फोन मेरे पास आते हैं, यह नहीं चलेगा। शुक्रवार को ये बातें ऊर्जा मंत्री प्रियव्रत सिंह ने बिजली कंपनी के अफसरों से कही। वे गोविंदपुरा के पावर डिस्ट्रीब्यूशन प्रशिक्षण सेंटर सभाकक्ष में बिजली सप्लाई व मेंटेनेंस व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे। मंत्री ने डीई और उनसे ऊपर के स्तर अधिकारियों से वन-टू-वन बात की।

असल में होशंगाबाद के बनखेड़ी में हाल ही में बिजली कटौती हुई थी। तब पारा 43 से 45 डिग्री सेल्सियस के आसपास था। गर्मी से बच्चे, बुजुर्ग और अन्य लोग इतने परेशान हो गए थे कि कुछ लोगों ने बिजली बंद को लेकर ऊर्जा मंत्री प्रियव्रत सिंह को फोन किया था। उन लोगों का कहना था कि अफसर कटौती कर रहे हैं। यह बात मंत्री को याद थी। समीक्षा बैठक में मंत्री ने बनखेड़ी के संबंधित डीई से बात की। उक्त अधिकारी ने मंत्री को सफाई देते हुए बताया कि बिजली बंद करने से पूर्व उपभोक्ताओं को जानकारी दी थी।

भाजपा के कार्यकर्ता तारों में छेड़छाड़ कर रहे हैं : मंत्री

समीक्षा बैठक के बाद मंत्री प्रियव्रत सिंह ने पत्रकारों से कहा कि भाजपा के समय घटिया ट्रांसफार्मर व उपकरण खरीदे गए थे। इनकी जांच कराई जाएगी। मंत्री ने आरोप लगाया कि भाजपा के कार्यकर्ता तारों में छेड़छाड़ कर जबरन कटौती कर रहे हैं, किसी को नहीं छोड़ा जाएगा। राजनीति अपनी जगह है, लेकिन भाजपा ने मेंटेनेंस के लिए बंद की जा रही बिजली को भी कटौती बताकर दुष्प्रचार किया है।