MP Republic Day Celebration: भोपाल (नवदुनिया प्रतिनधि)। देश आज अपना 74वां गणतंत्र दिवस धूमधाम से मना रहा है। इस मौके पर राजधानी भोपाल में राज्यस्तरीय समारोह का आयोजन लाल परेड मैदान में किया गया है। इसके लिए मैदान को आकर्षक ढंग से सजाया गया और उत्कृष्ट व्यवस्थाएं की गईं। मुख्य समारोह में राज्यपाल मंगुभाई पटेल ने सुबह नौ बजे राष्ट्रीय ध्वज फहराया। इसके बाद उन्‍होंने खुले वाहन से परेड का निरीक्षण किया और परेड की सलामी ली। इस अवसर पर सशस्त्र बलों द्वारा हर्ष फायर भी किया गा। इस बार परेड में सशस्त्र बलों के अलावा, एनसीसी, स्काउट एंड गाइड, अश्वारोही दल और डाग स्क्वाड ने भी हिस्‍सा लिया। मार्च पास्ट के बाद राज्यपाल ने गणतंत्र दिवस पर प्रदेश की जनता के नाम संदेश दिया।

स्‍कूली बच्‍चों ने सांस्‍कृतिक प्रस्‍तुतियों से बांधा समां

समारोह में स्कूल के विद्यार्थियों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति दी गई। परेड के बाद पहली प्रस्तुति दिल्ली पब्लिक स्कूल नीलबड़ के स्कूली बच्चों द्वारा दी गई। स्कूल के 120 बच्चों ने महिला सशक्तीकरण पर अपनी नृत्य नाटिका की प्रस्तुति दी। अगली प्रस्तुति मानसरोवर पब्लिक स्कूल के बच्चों ने दी। बच्चों ने बताया कि जब जब किसी ने भारत की ओर आंख उठाकर देखा तो हर घर से एक वीर क्रांतिकारी पैदा हुआ और हर मां ने अपने बेटे को मातृभूमि की सेवा में न्यौछावर कर दिया। हेमा हायर सेकंडरी स्कूल के 145 बच्चों ने अपनी नृत्य प्रस्तुति में प्रकृति के संरक्षण की सीख दी। इसके बाद नृत्य प्रस्तुति एकाकार में आठ शासकीय स्कूल के 174 बच्चों ने विभिन्न देशों सहित भारत के विभिन्न लोकनृत्‍यों को प्रस्तुत किया।

खूबसूरत झांकियों ने मोहा सबका मन

बच्‍चों की सांस्‍कृतिक प्रस्‍तुतियों के बाद लाल परेड ग्राउंड पर झांकियों के निकलने का सिलसिला शुरू हुआ। अद्भुत मध्य प्रदेश की थीम पर 20 विभागों की झांकियां परेड में प्रस्तुत की जा रही हैं। जिसमें पहली झांकी उद्यानिकी विभाग की रही। जिसमें प्रदेश की विभिन्न औषधीय फसलों और फलों की जानकारी दी गई। दूसरी किसान कल्याण और कृषि विभाग की झांकी प्रस्तुत की गई। इस बार मोटे अनाज को विशेष रूप से प्रस्तुत किया गया। इसके बाद कुटीर उद्योग, खेल विभाग और मध्य प्रदेश पुलिस विभाग की झांकी को प्रस्तुत किया गया। मध्य प्रदेश जेल विभाग की झांकी में विशेष सुरक्षा इकाई की जानकारी दी गई। कैदियों के व्यवहार में सुधार के लिए किए जा रहे नवाचारों की जानकारी दी गई। इसके बाद एक झांकी में प्रधानमंत्री आवास योजना और सुराज योजना में अतिक्रमण हटाने की जानकारी दी गई। पर्यटन विभाग ने महाकाल महालोक की उपलब्धि को झांकी के माध्यम से प्रस्तुत किया। ग्रामीण विकास विभाग ने पेसा कानून की जानकारी दी। पुरातत्व विभाग ने स्खलित वसना, शाल भंजिका और नृत्य गणेश की कलाकृतियों सहित अन्य प्राचीन प्रतिमाओं की कलाकृतियों के निर्माण की जानकारी दी। राजस्व विभाग की झांकी पहली बार प्रस्तुत की गई है। मछुआ कल्याण विभाग ने स्मार्ट फिश पार्लर और मछली पालन की जानकारी दी। महिला बाल विकास विभाग ने लाडली लक्ष्मी योजना की जानकारी दी। वहीं वन विभाग की झांकी में कूनो के चीते छाए रहे।

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close