भोपाल। (नवदुनिया प्रतिनिधि)

द न्यू गोल्फर्स ग्रुप ऐसे बुजुर्गों की सेवा में जुटा है, जिनके बेटे-बेटियां घर से बाहर हैं और लॉकडाउन के कारण नहीं आ पा रहे हैं। ग्रुप के सदस्य एक कॉल पर अकेले और बीमार बुजुर्गों के घरों में रोज भोजन पहुंचा रहे हैं। ग्रुप के प्रवीण सपकाल ने बताया कि होशंगाबाद रोड क्षेत्र में रहने वाले बुजुर्ग के यहां किराना सामग्री खत्म हो गई थी। तीन दिन तक वे जैसे-तैसे भोजन तैयार कर रहे थे। एक मॉल पर संपर्क भी किया पर सामान नहीं आया तो उन्होंने ग्रुप के सदस्य को कॉल की। इसके बाद उनके घर पर राशन सामग्री पहुंचाई गई। गुलमोहर कॉलोनी में बुजुर्ग दंपती बीमार हैं। उनके यहां भोजन बनाने वाली कामकाजी महिला ने लॉकडाउन के चलते आना बंद कर दिया है। अब उक्त बुजुर्ग दंपती के यहां रोज भोजन पहुंचा रहे हैं। ऐसे ही दर्जनों वुद्घ हैं, जिनकी जरूरतों का ध्यान रख रहे हैं। बेसहारा व मजदूरों को भी भोजन प्रदाय किया जा रहा है। मंगलवार को साकेतनगर में कुछ मजदूर व उनके परिवार को राशन सामग्री वितरित की गई।

जरूरतमंद लोगों के साथ बेसहारा मवेशियों का भी ख्याल

वेय ऑफ हैप्पीनेस वेलफेयर सोसायटी शहर के 20 स्थानों पर स्व-चलित किचन चला रही है। सोसायटी के यूसुफ खान ने बताया अशोका गार्डन, जहांगीराबाद, नारियलखेड़ा, चौक बाजार, पिपलानी आदि जगह से स्व-चलित किचन चला रहे हैं। इसके माध्यम से जरूरतमंदों को भोजन के पैकेट दे रहे हैं। हर दिन सैकड़ों जरूरतमंदों तक भोजन व राशन पहुंचाया जा रहा है। इसके अलावा हर रोज मवेशियों को भी चारा व भूसा खिला रहे हैं। मंगलवार को पुराने भोपाल क्षेत्र में दर्जनों मवेशियों को चारा-भूसा खिलाया गया।

----------

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस