मदन मोहन मालवीय, भोपाल। सरकार ने सड़क हादसों में जान गंवाने वाले व्यक्ति के स्वजन और घायल होने वाले व्यक्ति को सहायता राशि देने के लिए सोलेशियम फंड (क्षतिपूर्ति प्रतिकर राशि) की व्यवस्था की है। इस फंड के तहत अज्ञात और ज्ञात दोनों वाहनों की चपेट में आने वालों को जिला प्रशासन आर्थिक मदद मुहैया कराता है। इसमें 7,500 रुपये से लेकर 25 हजार रुपये तक की सहायता राशि देने का प्रविधान है। भोपाल की बात करें तो यहां पिछले 10 महीनों में सिर्फ 20 पीड़ितों को ही जिला प्रशासन की तरफ से आर्थिक मदद उपलब्ध कराई जा सकी है।

बता दें कि भारत सरकार के सड़क यातायात और राजमार्ग मंत्रालय ने हिट एंड रन वाहन दुर्घटनाओं के पीड़ितों को मुआवजा देने के लिए सोलेशियम योजना बनाई है। इसके तहत घायल को 12,500 रुपये और मौत होने पर व्यक्ति के स्वजन को 25 हजार रुपये की आर्थिक मदद देने का प्रविधान है।

तीन लाख 32 हजार 500 रुपये दिए गए

जनवरी 2022 से अक्टूबर 2022 के बीच जिले में लगभग 20 लोगों को सोलेशियम फंड के तहत जिला प्रशासन ने आर्थिक मदद उपलब्ध कराई है। इनमें सड़क हादसे के दौरान ज्ञात वाहन की टक्कर से जान गंवाने वाले 13 मृतकों के स्वजनों को लगभग एक लाख 95 हजार रुपये की राशि दी गई है। इसके साथ ही अज्ञात वाहन की टक्कर से जान गंवाने वाले चार मृतकों के स्वजनों को एक लाख रुपये और तीन घायल हुए व्यक्तियों को 37,500 रुपये की सहायता राशि दी गई है।

इस तरह से दी जाती है सहायता राशि

सहायता राशि भी दो तरह से प्रदान की जाती है। इसमें जिला प्रशासन द्वारा और दूसरी एक निजी बीमा कंपनी द्वारा दी जाती है। ज्ञात वाहन की टक्कर से यदि किसी व्यक्ति की मौत होती है या वह घायल हो जाता है तो इसमें सहायता राशि कलेक्टर द्वारा दी जाती है। वहीं, यदि अज्ञात वाहन की टक्कर से व्यक्ति की मौत होती है या वह घायल होता है तो सरकार द्वारा अधिकृत की गई एक निजी बीमा कंपनी द्वारा राशि दी जाती है। राशि 15 से 25 दिन के अंदर पीड़ित के बैंक खाते में पहुंच जाती है। इस दौरान दिए गए दस्तावेजों का परीक्षण किया जाता है।

सहायता लेने के लिए यह दस्तावेज होना जरूरी

सोलेशियम फंड की जानकारी के बारे में बात करें तो अधिकांश लोगों को इसके बारे में कम ही पता होता है। इस वजह से इसका लाभ भी कम ही लोग ले पाते हैं। भोपाल में ही 10 महीने में सिर्फ 20 लोग इसका लाभ ले सके हैं। इसका लाभ लेने के लिए अज्ञात वाहन की टक्कर से यदि कोई हादसा होता है तो उसमें पीड़ित पक्ष को मामले की थाने से प्राप्त खात्मा रिपोर्ट देनी होती है। वहीं, ज्ञात वाहन से हादसा होता है तो पीड़ित पक्ष को एफआइआर देनी होती है। इनके साथ ही पीएम रिपोर्ट, आधार कार्ड, पेनकार्ड, बैंक दस्तावेज आदि देना होता है। मौत होने पर पीएम रिपोर्ट देना जरूरी है।

फैक्ट फाइल

ज्ञात वाहन से दुर्घटना

घायलों को सहायता राशि - 7,500

मृतकों के स्वजनों को सहायता राशि - 15,000

अज्ञात वाहन से दुर्घटना

घायलों को सहायता राशि - 12,500

मृतकों के स्वजनों को सहायता राशि - 25,000

(नोट -जिला प्रशासन द्वार उपलब्ध कराई गई जानकारी के अनुसार।)

सोलेशियम फंड योजना के तहत ज्ञात और अज्ञात वाहनों की टक्कर से मृत्यु होने पर मृतक के स्वजन और घायल व्यक्ति को सहायता राशि दी जाती है। इससे पहले पीड़ित पक्ष द्वारा दिए गए दस्तावेजों का परीक्षण किया जाता है। सही होने पर ही यह मदद दी जाती है। वहीं, घायलों को अस्पताल भेजने वाले व्यक्तियों का भी सम्मान कर प्रोत्साहन बढ़ाया जाता है।

- अविनाश लवानिया, कलेक्टर भोपाल

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close