नईदुनिया से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की बातचीत

यातायात नियमों का पालन और जागरुकता से रोकी जा सकती हैं दुर्घटनाएं

धनंजय प्रताप सिंह, भोपाल। हमारी सरकार प्रारंभ से ही सड़क हादसों को रोकने के प्रति गंभीर रही है। यातायात नियमों का पालन कराने के लिए पुलिस महकमे को और अधिक संसाधन उपलब्ध जा रहे हैं। पहले भी सड़कों का निर्माण भाजपा सरकार ने कराया है। अभी भी सड़कों के निर्माण और सुधार के काम चल रहे हैं। नई सड़क परियोजनाओं में भी तेजी लाई जा रही है ताकि ये समयसीमा में पूर्ण हों। दुर्घटनाएं रोकने के लिए जागरुकता बढ़ाने पुलिस और सामाजिक संस्थाओं के साथ मिलकर कार्य किया जाएगा। कालेज व स्कूल स्तर पर नियम पालन के प्रति जागरुकता लाई जाएगी। यह बात मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने नईदुनिया से चर्चा में कही। इसके प्रमुख अंश.....

प्रश्न- प्रदेश में होने वाली दुर्घटनाएं रोकने को लेकर सरकार क्या प्रयास कर रही है।

उत्तर- प्रत्येक नागरिक की जान हमारे लिए कीमती है। हादसे में कोई भी अपनी जान न गंवाए, यही हमारा सदैव प्रयास रहता है। इसके लिए सबसे आवश्यक यह है कि लोग यातायात नियमों का पालन अवश्य करें। हम यातायात नियम तोड़ने वालों पर सख्ती भी दिखाते हैं और उन्हें जागरूक करने के लिए निरंतर प्रयास भी करते हैं। प्रदेश में अलग-अलग समय पर अभियान चलाकर लोगों को जागरूक भी किया जा रहा है।

प्रश्न- प्रदेश में सड़क सुरक्षा के लिए बुनियादी स्वास्थ्य सेवाओं में और क्या सुविधाएं बढ़ाने की तैयारी है।

उत्तर- प्रदेश में सड़क सुरक्षा के लिए हमने मेडिकल इंफ्रास्ट्रचर की बुनियादी सेवा सहित आधुनिक सेवाओं को मजबूत किया है। हाईवे पर कोई दुर्घटना होती है तो इसके लिए हमने जिला मुख्यालयों में ट्रामा सेंटर की स्थापना की है। इसके साथ ही हाईवे पर सुरक्षा के लिए डायल 100 में आधुनिक गाड़ियां तैनात की हैं, जो निश्चित समय में पास के ट्रामा सेंटर में पहुंचाती है। कुछ-कुछ दूरी पर साइन बोर्ड लगाए गए हैं, जिसमें लोगों को हाईवे से संबंधित प्रमुख नंबर की जानकारी मिलती है। 108 एंबुलेंस, स्टेट और नेशनल हाईवे से जुड़े जिला अस्पतालों में मेडिकल की हर सुविधा उपलब्ध कराई गई हैं। वहां इलाज के लिए 24 घंटे इमरजेंसी सुविधाएं उपलब्ध रहती हैं।

प्रश्न- यातायात नियमों के पालन में राजनीतिक दबाव और लेनदेन का भी आरोप लगता है।

उत्तर- मैं स्पष्ट रूप से कह चुका हूं कि प्रदेश में भ्रष्टाचार करने वाले अधिकारियों और कर्मचारियों को किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा। सरकार जीरो टोलरेंस की नीति पर चल रही है। यदि कोई ऐसा मामला सामने आता है, तो उस पर निश्चित ही सख्त कार्रवाई की जाएगी। पुलिस नियमों के अनुरूप अपनी कार्रवाई के लिए पूरी तरह स्वतंत्र है।

प्रश्न- वाहनों की संख्या बढ़ रही है, उस लिहाज से सड़कों के विस्तार की क्या योजनाएं हैं।

उत्तर- आज जिस तरह से आबादी बढ़ रही है, उसी तरह से हम संसाधन भी बढ़ा रहे हैं। मैं आपको बता चुका हूं कि प्रदेश में गांव-गांव तक सड़कों का जाल बिछाया जा चुका है। अभी भी सड़कों के विस्तार की कई योजनाओं पर केंद्र और राज्य सरकार काम कर रही हैं। भाजपा के शासन में प्रदेश में सड़कों का विस्तार सर्वाधिक किया गया है।

प्रश्न -सड़क हादसों को रोकने के लिए आगामी वर्ष में सबसे बड़ा काम क्या करेंगे?

उत्तर- हमारी सरकार प्रारंभ से ही सड़क हादसों को रोकने के प्रति गंभीर रही है। यातायात नियमों का पालन कराने के लिए पुलिस महकमे को और अधिक संसाधन उपलब्ध जा रहे हैं। पहले भी सड़कों का निर्माण भाजपा सरकार ने कराया है आगे भी आवश्यक सड़कों का निर्माण कराएंगे। वर्तमान सड़क परियोजनाओं में तेजी लाई जाएगी। जागरुकता बढ़ाने के लिए पुलिस और सामाजिक संस्थाओं के साथ मिलकर कार्य किया जाएगा। कालेज व स्कूल स्तर पर नियम पालन के प्रति जागरुकता लाई जाएगी।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close