भोपाल/मंडीदीप (नवदुनिया प्रतिनिधि)। मंडीदीप से सात किलोमीटर दूर स्थित पोलाहा गांव में शनिवार सुबह साधुओं के वेश में आए छह बदमाशों ने एक महिला का मंगलसूत्र, पायल और घर में रखी नकदी लूट ली। जानकारी मिलने पर ग्रामीणों ने बदमाशों का पीछा कर उन्हें दबोच लिया। तलाशी लेने पर उनके पास से नकदी और जेवरात बरामद हो गए, जिसके बाद बदमाशों को पुलिस के हवाले कर दिया गया है। पुलिस पूछताछ में ऐसे और मामलों का खुलासा होने की उम्मीद है।

पोलाहा गांव में शुक्रवार शाम को भगवावस्त्र पहने हुए आधा दर्जन युवक आए। ग्रामीणों ने श्रद्धा प्रकट करते हुए उनकी आवभगत की और देवीजी के मंदिर में उनके ठहरने की व्यवस्था कर दी, लेकिन गांव वालों को क्या मालूम था कि उनके साथ क्या होने वाला है। सुबह उठकर नकली साधु गांव में भ्रमण करने निकले, इस बीच वे एक महिला के घर पहुंचे। महिला संगीता लौवंशी के पति काम से बाहर गए हुए थे, नकली साधुओं ने महिला को तांत्रिक क्रिया का भय दिखाते हुए प्रसाद के रूप में भभूत दी और अपने सामने खाने को कहा। भभूत खाते ही संगीता मूर्छित हो गई। इस बीच साधुओं के वेश में आए लुटेरों ने उसके गले से मंगलसूत्र और पैरों की पायल निकाल ली। इस बीच बाकी बदमाशों ने घर की तलाशी लेकर नकदी पर हाथ साफ कर दिया।

महिला के पति मनोज लौवंशी कुछ समय बाद घर लौटे तो पत्नी को बेहोश देखकर रिश्तेदारों को बुलाया। इस दौरान गांव के लोग भी एकत्र हो गए पड़ोसियों ने बताया कि मंदिर में ठहरे साधु महिला के पास आए थे। इतना सुनते ही गांव वाले साधुओं की तलाश में निकल गए। ग्रामीणों ने पांच बदमाशों को गांव के बाहर दबोच लिया, जबकि एक भाग गया। ग्रामीणों ने दो किलोमीटर तक पीछा कर उसे भी पकड़ लिया। बदमाशों से सोने का मंगलसूत्र, एक जोड़ी पायल और कुछ नकदी बरामद की गई।

इसी बीच गांव वालों ने मिलकर बदमाशों की जमकर पिटाई भी की। इसके बाद सूचना मिलने पर मंडीदीप पुलिस पोलाहा गांव पहुंची और सभी बदमाशों को माल सहित थाना ले आई। इस दौरान ग्रामीण भी थाना पहुंच गए। पूरे क्षेत्र में यह घटना आग की तरह फैल गई। लुटेरे साधुओं को देखने के लिए मंडीदीप थाना में भीड़ जमा हो गई। मंडीदीप पुलिस ने पकड़े गए छह नकली साधुओं पर धारा 420/379 के तहत प्रकरण दर्ज कर लिया है। पुलिस कार्रवाई करने के साथ इनसे पूछताछ कर रही है। पूछताछ में कई और घटनाओं का राजफाश होने की उम्मीद है।

Posted By: Prashant Pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close